सुषमा स्वराज: जब सयुंक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर दी कड़ी चेतावनी

विदेश मंत्री रहते हुए सितंबर, 2016 में सयुंक्त राष्ट्र में सुषमा स्वराज ने अपने एक भाषण में पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर कड़ी चेतावनी दी थी। सुषमा स्वराज ने कश्मीर पर पाक को दिया करारा जवाब था।

Rahul Gandhi, Congress Leader Rahul Gandhi, Sushma Swaraj, Sushma Swaraj Passes Away, Sushma Swaraj Death, Sushma Swaraj Dies, Sushma Swaraj Demise, Sushma Swaraj Funeral, Sushma Swaraj Last Rights, सुषमा स्वराज, सुषमा स्वराज निधन, सुषमा स्वराज अंतिम संस्कार, sirf sach, sirfsach.in, सिर्फ सच

सयुंक्त राष्ट्र में सुषमा स्वराज ने अपने एक भाषण में पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर कड़ी चेतावनी दी थी।

पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की दिग्गज नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद दिल्ली के AIIMS में निधन हो गया। उनके निधन से देश ने एक कद्दावर नेता और एक मुखर वक्ता खो दिया। यह तब हुआ है जब जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल संसद से पारित हो गया है और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया गया है। विधेयक पारित होने के बाद सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया करते हुए लिखा था कि मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी। यह उनका अंतिम ट्वीट था।

विदेश मंत्री रहते हुए सितंबर, 2016 में सयुंक्त राष्ट्र में सुषमा स्वराज ने अपने एक भाषण में पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर कड़ी चेतावनी दी थी। सुषमा स्वराज ने कश्मीर पर पाक को दिया करारा जवाब था। हिंदी में दिए गए अपने उस भाषण में सुषमा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र में कहा था कि कश्मीर भारत का हिस्सा था, भारत का हिस्सा है और भारत का हिस्सा रहेगा। आतंकवाद के मुद्दे पर भी सुषमा स्वराज ने कहा था, ‘दुनिया के कुछ देशों का आतंकवादियों को पालने का शौक हो गया है। ऐसे देशों को अलग-थलग करने का समय आ गया है। अगर आतंकवाद खत्म नहीं किया गया तो आने वाली पीढ़ी हमें माफ नहीं करेगी।’

अपने लम्बे राजनीतिक करियर में सुषमा स्वराज कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को आड़े हाथों लेती रहीं। उनके भाषणों की चर्चा हमेशा होती रही। नरेंद्र मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में बतौर विदेश मंत्री उनकी कार्यशैली की खूब चर्चा हुई। 67 वर्षीय सुषमा स्वराज मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेश मंत्री थीं। पिछली लोकसभा में वे भाजपा की टिकट पर मध्य प्रदेश की विदिशा संसदीय सीट से चुनी गई थीं। हालांकि, 2019 में उन्होंने खराब स्वास्थ्य की वजह से चुनाव न लड़ने का फैसला किया था। 2016 में उनका किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था।

पढ़ें: जब सुषमा स्वराज ने सिर मुंडवा कर भिक्षुक बनने की दे दी थी चुनौती….

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App