आतंकियों को ISI का फरमान, “कश्मीरी सेव दिल्ली पहुंचाओ और ट्रिगर दबाओ”

पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) हर हाल में दिवाली तक जम्मू-कश्मीर से लेकर दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में आतंकवादी हमलों के लिए साजिश कर रहा है। भारत की खूफिया एजेंसी ने शासन-प्रशासन को इसके बारे में आगाह कर दिया है।

ISI

दरअसल ये वो वक्त है जब हमें खूफिया विभाग के इस सूचना को हल्के में नहीं लेना चाहिए। जो खबर सामने आई है उसके अनुसार देश के कई राज्यों में इनके स्लीपर सेल सक्रिय हैं, सिमी के शांत पड़े लोग सक्रिय हुए हैं।

इस बार आईएसआई (ISI) के संदेश में विस्फोटक को ‘‘सेब’ का नाम दिया गया है। खुफिया विभाग ने आईएसआई  (ISI) का जो मैसेज इंटरसेप्ट किया है उसके अनुसार, ‘चाहे कुछ भी हो कश्मीरी सेब दिल्ली और आसपास के इलाकों में पहुंचाओ और दिवाली पर ट्रिगर दबा दो’। इसमें आतंकवादियों से करो या मरो की बात की गई है। इसमें तो किसी को संदेह हो ही नहीं सकता कि पाकिस्तान हर हाल में भारत को अस्थिर करना चाहता है और उसके पास एक ही अस्त्र है, आतंकवाद।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के संयुक्त राष्ट्रसंघ में भाषण के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने हमला करने की कई कोशिशें की हैं।  पाकिस्तान के इस प्रयास में उनके 7 आतंकवादी मारे जा चुके हैं। सीमा पार से घुसपैठ की कोशिश लगातार जारी है। पंजाब में छोटे ड्रोन से हथियार भेजने का मामला पकड़ में आया है। हथियारों के साथ आतंकवादियों की गिरफ्तारी के बाद एक जला हुआ ड्रोन भी बरामद किया गया है। उसके बाद से दो पाकिस्तानी ड्रोन और पकड़े जा चुके हैं। जम्मू-कश्मीर के सीमा पार से जो बातचीत पकड़ी गई है, उसमें दिवाली को ट्रिगर दबाने के साथ कहा जा रहा है, इसमें चाहे नेता मरे या आम लोग, धार्मिंक स्थल खत्म हो या फिर सैन्य ठिकाने।

मोदी-जिनपिंग ने आतंकवाद और कट्टरता के खिलाफ मिलाया हाथ

इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि पिछले महीने जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर उबर उस्मानी ने घाटी के बांदीपोर में एक सेब बागान में दिल्ली, पंजाब में आतंकवादी हमले कराने की साजिश रची थी। इंटरसेप्ट में यह भी सुना गया कि ‘जल्दी से कश्मीरी सेब इन जगहों पर भेजो दुकानदार तैयार हैं’।

हमारी सुरक्षा एजेंसियां तो पहले से तैयार थीं, लेकिन 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद वह ज्यादा सतर्क हैं। सुरक्षा व्यवस्था पहले से ज्यादा सख्त की जा चुकी है। पंजाब से दिल्ली तक सुरक्षा समीक्षा उच्च स्तर पर हुई है। उम्मीद करनी चाहिए कि हमारी खुफिया एजेंसियां और सुरक्षाबल आपसी तालमेल से इन साजिशों को नाकाम करेंगे। देश का नागरिक होने के नाते हमें भी सतर्क रहना है। जरा भी संदेह होने पर पुलिस को तत्काल सूचित करना हमारा धर्म है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here