झारखंड: लातेहार पुलिस ने TPC के कमांडर सहित पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया, भारी मात्रा में हथियार बरामद

झारखंड की लातेहार पुलिस को टीपीसी (TPC) के सब जोनल कमांडर सहित पांच कुख्यात नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। पुलिस ने इन नक्सलियों के पास से भारी मात्रा में हथियार भी किया है। लातेहार जिले के लिए सिरदर्द बने नक्सली संगठन टीपीसी (TPC) के सब जोनल कमांडर कार्तिक गंझू, जगेश्वर गंझू, रुपलाल गंझु, पप्पू गंझु, तथा रंजीत गंझू को पुलिस ने 5 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया।

TPC
लातेहार पुलिस ने TPC के कमांडर सहित पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया, भारी मात्रा में हथियार बरामद।

पुलिस ने लातेहार के बालूमाथ थाना क्षेत्र के तीतर महुआ जंगल से टीपीसी (TPC) के कुख्यात कमांडर सहित उसके साथियों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक, लातेहार एसपी प्रशांत आनंद को गुप्त सूचना मिली थी कि झारखंड में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन टीपीसी के हार्डकोर उग्रवादी अपने साथियों के साथ क्षेत्र भ्रमण कर रहे हैं। जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर उन सभी को गिरफ्तार कर लिया। एसपी प्रशांत आनंद ने बताया कि ये नक्सली क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों में बाधा पहुंचाने के साथ-साथ लेवी वसूलने के मकसद से इलाके में घूम रहे थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार, गुप्त सूचना के आधार पर लातेहार एसपी प्रशांत आनंद के नेतृत्व में एक छापेमारी दल का गठन किया गया जो बालूमाथ थाना क्षेत्र के तीतर महुआ जंगल पहुंची।

यहां इस दल को हथियारबंद कुछ नक्सली दिखाई दिए। पुलिस को देखकर सभी भागने लगे। लेकिन पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इन लोगों को घेर लिया गया और इन 5 नक्सलियों को पकड़ने में कामयाब हो गई। इसके साथ ही गिरफ्तार नक्सलियों के निशानदेही पर पुलिस को नुकसान पहुंचाने के उदेश्य से छिपाकर रखा गया दो कार्बाइन, एक सेमी ऑटोमेटिक राइफल समेत 10 हथियार, 423 कारतूस, नक्सली साहित्य व भारी मात्रा में दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद किया है।

आपको बता दें कि बीते साल 30 दिसंबर की देर रात इन नक्सलियों ने चंदवा थाना में महुआ मिलान के पास रेलवे लाइन में काम कर रहे कंस्ट्रक्शन कंपनी का पोकलेन जलाकर दहशत फैलाने का काम किया था। साथ ही कुछ पर्चे भी छोड़ कर धमकी दी थी। गौरतलब है कि झारखंड के कई जिलों में टीपीसी (TPC) नक्सलियों का आतंक है, जो पुलिस प्रशासन के लिए सिर दर्द है। राज्य पुलिस मुख्यालय के सूत्रों के अनुसार, अब टीपीसी (TPC) सहित अन्य उग्रवादी और नक्सली संगठनों के दिन लगने वाले हैं। पुलिस द्वारा ऐसी रणनीति बनाई जा रही है कि जल्द ही कई टीपीसी (TPC) के जोनल कमांडर के साथ-साथ छोटे-छोटे नक्सली पुलिस के हत्थे चढेंगे।

पढ़ें: भारत के पहले संगीतकार जिन्होंने गोल्डन ग्लोब और ऑस्कर अवॉर्ड अपने नाम किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here