Bihar Elections: हमला करने से पहले थर-थर कांपेंगे नक्सली, बनाई गई ये खास रणनीति

Bihar Elections: बिहार चुनाव से पहले खुफिया अधिकारियों ने एक रिपोर्ट में ये आशंका जताई थी कि नक्सली, चुनावों के दौरान हमला कर सकते हैं।

Chhattisgarh

सांकेतिक तस्वीर।

बिहार चुनाव (Bihar Elections) से पहले खुफिया अधिकारियों ने एक रिपोर्ट में ये आशंका जताई थी कि नक्सली चुनावों के दौरान हमला कर सकते हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि पुलिस के बड़े अधिकारी, मतदानकर्मी, अर्द्धसैनिक बलों की टुकड़ियां नक्सलियों के निशाने पर हैं।

बिहार के चुनावों (Bihar Elections) में नक्सली हिंसा को रोकने के लिए एक खास रणनीति बनाई गई है। इस रणनीति के तहत कोबरा बटालियन नक्सलियों पर नकेल कसेगी। बांका, मुंगेर, जमुई, लखीसराय, सजौर, पीरपैंती और भागलपुर में प्रशासन इस मुद्दे को लेकर काफी गंभीर है।

दरअसल चुनावों के दौरान नक्सली, मतदानकर्मियों और सुरक्षाबलों पर हमले की फिराक में रहते हैं। लेकिन इस बार नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए कोबरा बटालियन को लगाया जाएगा। कोबरा बटालियन के आने से सुरक्षा की अतिरिक्त गारंटी रहेगी।

बता दें कि बिहार चुनाव से पहले खुफिया अधिकारियों ने एक रिपोर्ट में ये आशंका जताई थी कि नक्सली चुनावों के दौरान हमला कर सकते हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि पुलिस के बड़े अधिकारी, मतदानकर्मी, अर्द्धसैनिक बलों की टुकड़ियां नक्सलियों के निशाने पर हैं।

ये भी पढ़ें- Coronavirus: भारत में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में आए 97,894 नए मामले

रिपोर्ट में नक्सलियों के बिहार के कई इलाकों में आने-जाने की भी बात कही गई थी। इसके अलावा जंगल में भी नक्सलियों की सक्रियता बढ़ गई थी। इस खुफिया जानकारी के बाद से पुलिस मुख्यालय सतर्क हो गया था।

बता दें कि कोबरा बटालियन के जवान आसानी से जमीन के नीचे छिपे बम खोज लेते हैं और फौरन उसे डिफ्यूज करने में माहिर होते हैं। 12 दिनों तक बिना खाना और पानी के इन जवानों को प्रशिक्षण दिया जाता है। ये जंगलों और पहाड़ों में आसानी से मीलों पैदल चलते हैं।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें