झारखंड: खूंटी से महिला नक्सली गिरफ्तार, पति है 5 लाख का इनामी

Naxal, jharkhand, Ranchi, woman naxali, Sunita Swansi Elisa, woman naxali arrested, khunti, sirf sach, sirfsach.in
खूंटी से इनामी नक्सली की पत्नी गिरफ्तार (सांकेतिक तस्वीर)

झारखंड के नक्सल प्रभावित खूंटी जिले में पुलिस ने एक महिला नक्सली को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार महिला नक्सली पांच लाख के इनामी नक्सली बुधराम स्वांसी उर्फ प्रदीप की पत्नी सुनीता स्वांसी उर्फ एलिसा है। गिरफ्तार सुनीता स्वांसी भाकपा माओवादी के हार्डकोर नक्सली कुंदन पाहन, अमित मुंडा, महाराज प्रामाणिक, किशन दा, अनल दा और रमेश जैसे हार्डकोर नक्सलियों के साथ काम कर चुकी है। इसके खिलाफ अड़की थाना में आर्म्स एक्ट तथा 17 सीएलए के मामले दर्ज हैं। पुलिस को लंबे समय से इस महिला नक्सली की तलाश थी। यह जानकारी प्रभारी एसपी आशुतोष शेखर ने दी।

एसपी के मुताबिक, उन्हें सूचना मिली थी कि पांच लाख के इनामी नक्सली बुधराम स्वांसी उर्फ प्रदीप की पत्नी सुनीता स्वांसी उर्फ एलिसा अड़की थाना क्षेत्र के जरंगा टोला गोड़ाहापा स्थित अपने घर आयी हुई है। इस सूचना के आधार पर आवश्यक कार्रवाई के लिए अड़की थाना प्रभारी विक्रांत कुमार तथा सीआरपीएफ 157 बटालियन के विष्णु कुमार शर्मा के नेतृत्व में छापामारी टीम का गठन किया गया। टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जरंगा टोला गोड़ाहापा स्थित घर से सुनीता स्वांसी उर्फ एलिसा को गिरफ्तार कर लिया। सुनीता उर्फ एलिसा एक खूंखार नक्सली है और वह सारंडा और पोड़ाहाट जंगलों में ट्रेंनिग कर चुकी है।

पढ़ें: कांकेर में नक्सली हमला, आईईडी ब्लास्ट से 3 लोगों की मौत

इससे पहले लोहरदगा जिले की सेरेंगदाग थाना पुलिस ने भाकपा माओवादी के सदस्य नक्सली रितेश खेरवार को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली को 21 सितंबर को जेल भेज दिया गया। वह गुमला जिले के विशुनपुर थाना क्षेत्र के बेठहट गांव का रहने वाला है। बताया जाता है कि सड़क निर्माण योजना का काम देख रहे मुंशी जागीर भगत को साल 2018 में भाकपा माओवादी संगठन का नक्सली रितेश खेरवार ने लेवी के लिए गोली मार दिया था। डीएसपी परमेश्वर प्रसाद ने इस बात की जानकारी दी है। पुलिस के मुताबिक, करोड़ों रुपए की लागत से मुंगो रनकुली में सड़क निर्माण का कार्य चल रहा था, जिसमें मुंशी का काम जागीर भगत कर रहा था।

नक्सली रितेश खेरवार लेवी मांगने के लिए अपने साथियों के साथ निर्माण स्थल पर गया था। वहां पर लेवी के लिए मुंशी और नक्सलियों के बीच विवाद हो गया और तीन की संख्या में आए उग्रवादियों में से रितेश ने जागीर को गोली मार दी। गोलीकांड इस इस घटना में जागीर के हाथ में भी गोली लगी थी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। उग्रवादियों ने वहां से जाते वक्त एमसीसी उग्रवादी संगठन के नाम का पर्चा छोड़कर घटना की जिम्मेदारी ली थी। इस घटना को लेकर सेरेंगदाग थाने में कांड संख्या 4/18 दर्ज किया गया था। दर्ज प्राथमिकी के आधार पर पुलिस ने इनवेस्टिगेशन शुरू की और नक्सली रितेश खेरवार को गिरफ्तार कर लिया।

पढ़ें: राजनांदगांव में साढ़े 7 लाख के इनामी नक्सली ने आत्मसमर्पण किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here