Naxali

गिरफ्तार नक्सली (Naxali) ने इन तमाम अपराधों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। पुलिस ने गिरफ्तार नक्सली के घर से तमाम तरह की नक्सल सामग्री बरामद की है। ऐसे में अब उसकी निशानदेही पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी। 

दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली (Naxali) वहां से भाग गए। बाद में जब सुरक्षाबलों (Security Forces) ने घटनास्थल की तलाशी ली तब वहां से नक्सली सायबो का शव, पिस्टल, विस्फोटक लगा बाण और अन्य सामान बरामद किया गया।

बिहार (Bihar) की औरंगाबाद पुलिस को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ एक और कामयाबी मिली है। 15 जनवरी को पुलिस ने स्‍थानीय भाजपा सांसद सुशील कुमार सिंह पर हमले की साजिश रचनेवाले भाकपा माओवादी के हार्डकोर नक्सली (Hardcore Naxali) को दबोच लिया है।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, नारायणपुर के ओरछा थाना क्षेत्र में नक्सलियों (Naxali) के बिझाये बारूदी सुरंग में हुए विस्फोट में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के 16वीं बटालियन के दो जवान संतोष यादव और महेश अलामी घायल हो गए।

माओवादियों (Maoists) के खिलाफ सलवा जुडूम कार्यकर्ताओं की हत्या, पुलिस शिविर पर हमला करने, पुलिस टीम पर हमला करने और साल 2013 में बासागुड़ा के साप्ताहिक बाजार में पत्रकार साई रेड्डी की हत्या में शामिल रहने का आरोप है।

नक्सली (Naxali) भीमा बारसे, सोना ताती, माड़का बारसे और पिट्टे 2019 में बीजेपी विधायक भीमा मंडावी के वाहन को विस्फोट से उड़ाने की घटना में शामिल थे। जिसमें विधायक मंडावी की मौत हो गई थी।

नक्सलियों (Naxalites) ने युवक के पेट में गोली मारी है। पुलिस टीम ने डेड बॉडी के पास से एक पर्चा भी बरामद किया है, जिसमें नक्सलियों ने मारे गये युवक पर पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया है।

चाईबासा के एसपी अजय लिंडा ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर छापा मारकर पुलिस ने गुदड़ी थाना क्षेत्र के होइलोरा के जंगल से नक्सली मुंडू (Naxali)  को गिरफ्तार किया।

तीन राज्यों ने इन दोनों महिला नक्सलियों (Naxali) पर 14-14 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। जिनकी पहचान सावित्री उर्फ आयते (24), शोभापति उमेश गावड़े  (30) के रूप में हुई है।

समर्पण करने वाले नक्सलियों (Naxalites) में बामन सोड़ी उर्फ दुर्गेश गंगालूर एरिया कमेटी कंपनी नंबर दो का सदस्य था। दुर्गेश पर आठ लाख रूपए का इनाम था।

जोनल कमांडर मनोहर का दस्ता बड़ी नक्सली घटना को अंजाम देने के इरादे से जावाबार के जंगलों में डेरा जमाये हुये था। लेकिन पुलिस की मुस्तैदी और त्वरित कार्रवाई ने नक्सलियों (Naxali) के मंसूबे पर पानी फेर दिया।

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में नक्सलियों (Naxalites) की ओर से लगातार किए जा रहे उपद्रव के बाद पुलिस (Police) ने इनके मंसूबों को नाकाम करने के लिए कमर कस लिया है।

सुकमा जिले के ताड़मेटला गांव के करीब बारूदी सुरंग में हुए विस्फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के कोबरा बटालियन का एक अधिकारी शहीद हो गया और 7 जवान घायल हो गए हैं।

अमोनियम नाइट्रेट को नक्सलियों ने पुलिस दल को नुकसान पहुंचाने के लिए रखा था, लेकिन सुरक्षा बलों की सुझबूझ और सतर्कता के कारण नक्सलियों (Naxali) के मंसूबों को विफल करने में सफलता मिली है।

एसपी ने नक्सल सगंठन के सभी सदस्यों (Naxali) और उनके नेताओं से अपने हथियारों के साथ सरेंडर करने और आम जनता और विकास के हित में समाज की मुख्यधारा में शामिल होने की अपील की।

गिरफ्तार नक्सली (Naxali) कृपाल आबुन गांव अपने परिवार से मिलने जा रहा था तभी उसको पुलिस ने दबोच लिया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार नक्सली की आधे दर्जन से अधिक नक्सल संबंधी वारदात में तलाश की जा रही थी।

पुलिस ने प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआई के चार सक्रिय नक्सलियों (Naxalites) को बानो के कनरंवा जंगल से धर दबोचा। इनके पास से एक लोडेड देशी रायफल, 12 बोर की पांच जिंदा गोली, तीन मोबाइल, नक्सल मैग्जीन बरामद किया है।

यह भी पढ़ें