SSB: सशस्त्र सीमा बल के पास है भारत-नेपाल सीमा की सुरक्षा जिम्मेदारी

भारत-नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीमा की लंबाई 1751 किलोमीटर है। दोनों देशों की सरहद ज्यादात्तर खुली हुई और आड़ी-तिरछी भी है। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम की सीमाएं नेपाल के साथ लगती है। 

India-Pakistan Border

File Photo

India Nepal Border: मुख्यत: सशस्त्र सीमा बल (SSB) के पास भारत-नेपाल सीमा की सुरक्षा जिम्मेदारी है। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम की सीमाएं नेपाल के साथ लगती है।

भारतीय सैनिक किसी भी सूरत में दुश्मनों को पटखनी देने के लिए जाने जाते हैं। देश को बाहरी खतरों से बचाना ही हमारे वीर सपूतों का एकमात्र मकसद होता है। भारत अपने पड़ोसी देश नेपाल के साथ अपनी सीमाएं साझा करता है। हाल में नेपाल ने भारत के तीन क्षेत्र लिपुलेख, लिंपियाधुरा और कालापानी को अपने नक्शे में शामिल कर लिया था, जिसपर भारत ने कड़ा एतराज जताया था।

मुख्यत: सशस्त्र सीमा बल (SSB) के पास भारत-नेपाल सीमा की सुरक्षा जिम्मेदारी है। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम की सीमाएं नेपाल के साथ लगती है। भारत-नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीमा की लंबाई 1,751 किलोमीटर है।

भारत और चीन के बीच अब तक कितनी बार हो चुकी है झड़प? यहां जानें

दोनों देशों की सरहद ज्यादात्तर खुली हुई और आड़ी-तिरछी भी है। दोनों देशों के बीच सीमा विवाद है। चीन के साथ सीमा विवाद दशकों से चला रहा है साथ ही नेपाल के साथ भी हमारा यही हाल है।

ये भी देखें-

भारत-नेपाल सीमा के अलावा भारत-भूटान सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी सशस्त्र सीमा बल (SSB) की ही है। 1962 में चीन से युद्ध के बाद ही सशस्त्र सीमा बल को विशेष सेवा ब्यूरो के रूप में मई 1963 में स्थापित किया गया थ। सीमा की सुरक्षा के अलावा इस एजेंसी का काम खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के लिए सशस्त्र सहायता प्रदान करना भी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें