Kondagaon

मिली जानकारी के मुताबिक, करीब 15 से 17 नक्सली उपसरपंच के घर पहुंचे और उन्हें घर से उठा लिया। इसके बाद कुछ दूरी पर ले जाकर उनकी हत्या कर दी।

बस्तर के कोंडागांव में एक सरेंडर महिला नक्सली ने पुलिस में अपने ही साथी नक्सलियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। महिला नक्सली अपने दस्ते के साथी नक्सलियों से इतनी परेशान हो गई थी कि उसने आत्मसमर्पण कर दिया।  

भरोसा जीतने के लिए आपस में बातचीत जरूरी होती है। गांव को नक्सल-मुक्त कर वहां शांति बहाल करने का जवानों का मकसद बिना गांव वालों के सहयोग के संभव नहीं था। वहां की बोली हल्बी है और जवानों को यह बोली बिल्कुल नहीं आती थी।

यह भी पढ़ें