बीहड़ों में साजिश रच रहे थे 100 नक्सली, जवानों ने घेर कर शिकार कर डाला

Naxal Encounter Dantewada Chhattisgarh, naxal encounter, dantewada, chhattisgarh, dantewada naxal encounter, sirf sach, sirfsach.in, सिर्फ सच,

सुरक्षाबलों ने एकबार फिर मुस्तैदी दिखाते हुए नक्सलियों को सबक सिखाया है। हमले की साजिश रहे नक्सलि देश के बहादुर जवानों ने नक्सलियों को इस बार उन्हीं की भाषा में जवाब दिया है। नक्सल प्रभावित राज्य छत्तीसगढ़ में नक्सली किसी बड़ी योजना को अंजाम देने की फिराक में एक जगह जमा हुए थे लेकिन सुरक्षाबलों ने नक्सलियों की योजना को नाकाम कर दिया है। जिले के दंतेवाडा-सुकमा बॉर्डर के पास स्थित बीहड़ों में नक्सली 25 से 30 टेंट लगाकर किसी खौफनाक योजना के लिए रणनीति बना रहे थे। लेकिन सुरक्षाबलों को उनकी इस गुप्त योजना मीटिंग के बारे में पता चल गया। जिसके बाद पुलिस बल ने इसपर कार्रवाई की। बुधवार (8 मई, 2019) की अहले सुबह गोन्देरास गांव के जगलों में डिस्ट्रिक रिजर्व गार्ड और स्पेशल टास्क फोर्स के जवानों ने पूरी तैयारी के साथ नक्सलियों पर हमला बोला।

बहादुर जवानों के हमले से नक्सलियों को संभलने तक का मौका नहीं मिला। दोनों तरफ से काफी देर तक गोलीबारी हुई। इस मुठभेड़ में एक महिला समेत दो नक्सली ढेर हो गए। पुलिस ने माओवादियों के पास से एक इंसास राइफल और 12 बोर बंदूक के साथ काफी सामान बरामद किया है। पुलिस का दावा है कि इस गोलीबारी में कई अन्य नक्सली भी जख्मी हुए हैं। पुलिस की गोली से जख्मी हुए नक्सली इधर-उधर छिप गए हैं। जानकारी के मुताबिक जंगल में करीब 100 नक्सली जमा हुए थे। मुठभेड़ के बाद पुलिस ने कुछ नक्सलियों के शवों को जंगल से बाहर निकाला है। पुलिस ने इस इलाके को चारों तरफ से घेर कर सघन तलाशी अभियान भी चलाया है।

पढ़ेंः बीहड़ों में चलती है खास एंबुलेंस, जान हथेली पर रख कर जवान बचाते हैं लोगों की जिंदगी

डीआईजी (एंटी नक्सल ऑपरेशन) और दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि जब वह जंगलों की ओर जा रहे थे तो माओवादियों ने उन पर फायरिंग की। बहादुर जवानों ने नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। पुलिस के इस एंटी नक्सल ऑपरेशन के बाद नक्सलियों में दहशत भर गया है। बता दें कि हाल ही में नक्सलियों ने महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में कायरता पूर्ण हमला किया था। इस हमले में देश के 16 जवान शहीद हो गए थे। इसके अलावा इस हमले के कुछ ही घंटों बाद नक्सलियों ने बिहार के गया जिले में भी तांडव मचाया था। नक्सलियों ने यहां विकास कार्य में बाधा डालते हुए जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर को आग के हवाले कर दिया था।

यह भी पढ़ें: मोहब्बत के दुश्मनों से बच कर भाग निकला ये प्रेमी जोड़ा, सुनाई दर्द भरी दास्तान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here