मिठाई की दुकान चलाते थे Karan Johar के पिता Yash Johar, ऐसे चमका Bollywood में उनका ‘जौहर

मुंबई पहुंचने के बाद वहां गुजर-बसर करने के लिए यश (Yash Johar) को नौकरी की जरूरत पड़ी। उन्होंने वहां टाइम्स ऑफ इंडिया में एक फोटोग्राफर के असिस्टेंट के तौर पर काम करना शुरू किया।

Yash Johar

Yash Johar Death Anniversary II यश जौहर की पुण्यतिथि

हिंदी फिल्मों के मशहूर निर्माता और Dharma Production के संस्थापक Yash Johar की आज पुण्यतिथि है। ‘मुझे जीने दो’, ‘गाइड’, ‘ज्वेल थीफ’, ‘दोस्ताना’, ‘कुछ कुछ होता है’ जैसी शानदार फिल्मों से हिंदी फिल्म जगत को समृद्ध बनाने वाले प्रसिद्ध फिल्मकार यश जौहर उभरती प्रतिभाओं को निखारने के महारथी थे। उन्हें कला और कलाकार से काफी लगाव था। वह हमेशा नए कलाकारों को निखारने और छुपी हुई प्रतिभाओं को सामने लाने में लगे रहते थे। पटकथा लेखन से लेकर सहायक निर्माता और फिर निर्माता के तौर पर उनकी फिल्में और उसमें काम करने वाले कलाकार इस बात के गवाह हैं। वे प्रतिभा को निखार कर एक सुन्दर रूप दे दिया करते थे। सिने जगत के मंझे हुए अभिनेताओं से भी उनका सर्वश्रेष्ठ अभिनय करवा लेना उनका एक खास गुण रहा।

यह भी पढ़ें