दंतेवाड़ा: रेड कॉरीडोर में नक्सलियों की पकड़ हो रही कमजोर, आए दिन नक्सलियों के किले हो रहे ध्वस्त

लाल आतंक का गढ़ कहलाने वाले बस्तर के अंदरूनी इलाकों में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए अपने नक्सली साथियों के स्मारक (Naxali Memorial)  बनवा रहे हैं। लेकिन, दंतेवाड़ा पुलिस Police) ने अंदरूनी गांवों में अपना सूचना तंत्र इतना मजबूत कर लिया हैं कि अब नक्सलियों के स्मारक बनते ही पुलिस को तुरंत सूचना मिल रही है।

Naxali Memorial

नक्सलियों के गढ़ कहे जाने वाले नीलावाय गांव के लोगों ने यहां बने नक्सली स्मारक को अपने हाथों से तोड़ दिया।

नक्सलियों (Naxals) का शहीदी सप्ताह शुरू होने वाला है। इसलिए नक्सली छत्तीसगढ़ में लाल आतंक का गढ़ कहलाने वाले बस्तर के अंदरूनी इलाकों में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए अपने नक्सली साथियों के स्मारक  बनवा रहे हैं। लेकिन, दंतेवाड़ा पुलिस ने अंदरूनी गांवों में अपना सूचना तंत्र इतना मजबूत कर लिया है कि अब नक्सलियों के स्मारक बनते ही पुलिस को तुरंत सूचना मिल रही है। इसके अलावा पुलिस ने स्थानीय लोगों का विश्वास भी जीता है। इसकी वजह से अब गांव वाले भी खुलकर नक्सलियों के खिलाफ सामने आ रहे हैं और उनकी सूचना पुलिस को दे रहे हैं। इतना ही नहीं पुलिस के साथ-साथ नक्सलियों के स्मारक (Naxali Memorial) को गांव के लोग अपने हाथों से तोड़ रहे हैं। इसी कड़ी में 22 जुलाई को नक्सलियों के गढ़ कहे जाने वाले नीलावाय गांव के लोगों ने यहां बने नक्सली स्मारक को अपने हाथों से तोड़ दिया।

ये भी देखें-