UP Police

एसओ ने बताया कि जिस ट्रैक्टर पर नौजवानों द्वारा बैठकर नारेबाजी की गई थी। उसे भी कब्जे में लिया गया है। रतनपुरी थाने के एसएसआई ललित कुमार की तहरीर पर उक्त प्रकरण में मुकदमा दर्ज किया गया था।

एसएसपी अमित पाठक ने इस सराहनीय कार्य के लिए सिपाही अरुण कुमार (Arun Kumar) की बहादुरी व कर्तव्यपरायणता की प्रशंसा कर उसे प्रशस्ति पत्र व 10 हजार रुपए नकद पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की है।

योगी आदित्यनाथ ने आगरा की घटना में सब इंस्पेक्टर प्रशांत यादव (Prashant Yadav) की शहादत पर गहरा दुःख जाहिर और शहीद हुए सब इंस्पेक्टर के परिजनों को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है।

मंजिल सैनी खासकर उन महिलाओं के लिए प्रेरणास्रोत है जो यह सोचती हैं कि शादी के बाद किसी महिला की जिंदगी उसके हिसाब से नहीं चलती। मंजिल सैनी शादी के बाद ही आईपीएस बनीं।

योगी सरकार का दावा है कि बीते 4 सालों में प्रदेश की कानून व्यवस्था में सुधार हुआ है और अपराधी प्रदेश छोड़कर भाग रहे हैं।

एसटीएफ (STF) ने बिकरू कांड (Bikeru Case) में विकास दुबे (Vikas Dubey) का सहयोग करने वाले सात लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही एसटीएफ ने वारदात में इस्तेमाल किए गए कई असलहे बरामद किए हैं।

यूपी के लखनऊ स्थित सचिवालय में तैनात एक दरोगा ने सुसाइड कर लिया है। पुलिसकर्मी की पहचान निर्मल चौबे (Nirmal Chaubey) के तौर पर हुई है।

यूपी का सोनभद्र जिला छत्तीसगढ़ राज्य से सटा हुआ है। ऐसे में जब छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का मूवमेंट बढ़ रहा है, तो यूपी के सोनभद्र में भी पुलिस सक्रिय हो गई है।

पीएफआई के दोनों आतंकी (Terrorists) छोटे-छोटे ग्रुप बनाकर नये सदस्यों को आतंकी हमलों की ट्रेनिंग दे रहे थे। पुलिस के हत्थे चढ़ा आतंकी फिरोज खान संगठन से जुड़े लोगों को बम व हथियार चलाने की ट्रेनिंग देता था।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अपराधियों का दुस्साहस बढ़ता ही जा रहा हैं। कासगंज (Kasganj) के बाद अब शाहजहांपुर (Shahjahanpur)  में पुलिस टीम पर हमला हुआ है। पुलिस की टीम छेड़खानी की शिकायत पर पहुंची थी।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कासगंज (Kasganj) में हुई वारदात के बाद STF की पांच टीमें मौके पर पहुंचीं हैं। दोबारा कॉम्बिंग शुरू किया गया है। जिले की पुलिस अब तक दारोगा और सिपाही के सरकारी असलहे नहीं ढूंढ पाई है। फिलहाल, तलाशी अभियान जारी है।

यूपी (UP) के कासगंज (Kasganj) में 9 फरवरी को शराब माफिया के हमले में मारे गए सिपाही देवेंद्र (Constable Devendra) आगरा के नगला बिंदु गांव के रहने वाले थे। मौत की सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया है।

‘हैलो गैंग (Hello Gang)’ के अपराधियों ने उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, छत्तीसगढ़, झारखंड, महाराष्ट्र सहित कई दूसरे राज्यों के लोगों को भी अपना शिकार बनाया हैं।

डीआईजी चंद्र प्रकाश (DIG Chandra Prakash) प्रथम तल पर पहुंचे और पुष्पा के दरवाजे को खटखटाया। दरवाजा भीतर से बंद था। पुष्पा की कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो उन्होंने धक्का देकर दरवाजा तोड़ दिया।

यूपी के हाथरस में हुए गैंगरेप (Hathras Gang Rape) में पीड़िता के मौत के बाद पुलिस ने शव का जबरन अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस के इस अमानवीय रवैये से जनता में बौखलाहट है।

सेक्टर–62 में रात तीन से साढ़े चार बजे के बीच अपनी महिला मित्र के साथ घूमते तीन जोड़ों को पकड़ लिया। पुलिस (Noida Police) ने जब उनसे रात में घूमने का कारण पूछा तो वो संतुष्ट जवाब नहीं दे पाए।

सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर रैंक के पुलिसकर्मियों (UP Police) को जबरन रिटायर्ड किया जाना तय माना जा रहा है। बता दें कि योगी सरकार 50 साल से अधिक आयु वाले कर्मचारियों के कामकाज की समीक्षा करने जा रही है

यह भी पढ़ें