UP Police

डीआईजी चंद्र प्रकाश (DIG Chandra Prakash) प्रथम तल पर पहुंचे और पुष्पा के दरवाजे को खटखटाया। दरवाजा भीतर से बंद था। पुष्पा की कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो उन्होंने धक्का देकर दरवाजा तोड़ दिया।

यूपी के हाथरस में हुए गैंगरेप (Hathras Gang Rape) में पीड़िता के मौत के बाद पुलिस ने शव का जबरन अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस के इस अमानवीय रवैये से जनता में बौखलाहट है।

सेक्टर–62 में रात तीन से साढ़े चार बजे के बीच अपनी महिला मित्र के साथ घूमते तीन जोड़ों को पकड़ लिया। पुलिस (Noida Police) ने जब उनसे रात में घूमने का कारण पूछा तो वो संतुष्ट जवाब नहीं दे पाए।

सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर रैंक के पुलिसकर्मियों (UP Police) को जबरन रिटायर्ड किया जाना तय माना जा रहा है। बता दें कि योगी सरकार 50 साल से अधिक आयु वाले कर्मचारियों के कामकाज की समीक्षा करने जा रही है

आएशा के मुताबिक ISIS का संदिग्ध आतंकी यूसुफ काफी समय से संदिग्ध चीजों को जमा कर रहा था और मोबाइल पर आतंकी वीडियो देखता था।

दुर्दांत अपराधी और यूपी पुलिस के 8 जवानों का हत्यारा गैंगस्टर विकास दुबे मारा गया। कानपुर के पास यूपी एसटीएफ ने उसे शुक्रवार को मार गिराया। यूपी एसटीएफ की टीम विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर ले आ रही थी, उसी बीच ये एनकाउंटर पेश आया।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में 3 जुलाई को हुई 8 पुलिसवालों की हत्या के मुख्य आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने मंदिर में चिल्ला-चिल्लाकर खुद को विकास दुबे बताया।

2001 में राजनाथ सिंह सरकार में मंत्री का दर्जा पाए संतोष शुक्ला की थाने में घुसकर हत्या कर दी थी। विकास के खिलाफ 60 केस दर्ज हैं। बताया जाता है कि उत्तरप्रदेश में सभी राजनीतिक दलों के ऊपर हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की पकड़ है।

यह भी पढ़ें