UP ATS

यूपी एटीएस (UP ATS) और पुलिस की टीम ने अलकायदा के गिरफ्तार आतंकी मिनहाज और मसीरुद्दीन के चार मददगारों को 14 जुलाई को गिरफ्तार किया।

पुलिस गिरफ्त में आये इन आतंकियों (Militants) ने पूछताछ में ये खुलासा किया है कि 15 अगस्त को धमाके करने वाले थे। हालांकि एटीएस ने ये खुलासा नहीं किया कि ये धमाके कहां करने वाले थे।

आरोपियों के घर पर अफगानिस्तान व पाकिस्तान सहित ईरान के लोगों का आना-जाना था। इसमें कई संदिग्ध गतिविधियों में शामिल हैं। यही विदेशी संदिग्ध लोगों के जरिए ही आतंक का कारोबार उत्तर प्रदेश में फैलाना चाहते थे।

प्रवीण कुमार ने खुलासा किया है कि इस रैकेट ने फर्जी तरीके से उनका धर्मांतरण (Forceful Conversion) करा दिया जबकि उनको इसकी भनक तक नहीं लगी।

धर्मांतरण (Illegal conversion) कराने वाले छात्रों को आईएसआई से मिले फंड दिए जाते थे। हिंदू छात्रों का धर्म परिवर्तन कराने के बाद उन्हें केरल के इडुक्की जिले में थांगलपारा में आतंक की ट्रेनिंग दिलाई जाती थी।

यह भी पढ़ें