Terror Funding

ड्रग माफिय शाहिद सुमरा (Shahid Sumra) कच्छ जिले की मांडवी तहसील का रहने वाला है। उसने पाकिस्तान से बोट के जरिए कई बार में 530 किलो हेरोइन को समुद्र रास्ते के जखौ बार्डर से 7-8 मील अंदर मंगाया था।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के आतंकी संगठन (Terrorist Organizations) बिहार (Bihar) के युवाओं को बरगलाकर उनका इस्तेमाल कर रहे हैं। वे युवाओं को नेपाल से जम्मू-कश्मीर में नकली भारतीय नोटों को पहुंचाने के लिए कमीशन दे रहे हैं।

टेरर फंडिंग केस में एनआइए अबतक 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, इस मामले में अबतक दिनेश गोप की तलाश पुलिस को है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) पुलिस ने जम्मू में टेरर फंडिंग मॉड्यूल (Terror Funding Module) का भंडाफोड़ किया है। पुलिस को इस बात की खुफिया सूचना मिली थी कि कश्मीर में आतंकियों (Terrorists) के लिए पाकिस्तान से हवाला के जरिए फंडिग की जा रही है।

झारखंड (Jharkhand) के रांची में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ कामयाबी हाथ लगी है। एनआईए (NIA) ने टेरर फंडिंग (Terror Funding) मामले में 14 जुलाई को बड़ी कार्रवाई करते हुए गुमला जिले से पीएलएफआई (PLFI) नक्सली फुलेश्वर गोप को गिरफ्तार किया है।

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद (Hafiz Saeed) को टेरर फंडिंग मामले में पाकिस्तान की अदालत ने 12 फरवरी को पांच साल की सजा सुनाई है।

टेरर फंडिंग के मामले में मुंबई हमले के मास्‍टर माइंड हाफ‍िज सईद (Hafiz Saeed) के खिलाफ लाहौर की आतंक निरोधी अदालत में आरोप तय हो गए हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के छठी समिति की बैठक में भारत ने पाकिस्तान और उसको मिलने वाले टेरर फंडिंग (Terror Funding)...

समा टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल वित्तीय कार्रवाई कार्यबल के अधिकारियों से मिलने के लिए 7 सिंतबर को बैंकॉक रवाना होगा। उनकी बैठक 8 से 10 सितंबर तक होगी।

इस छापेमारी में जम्मू-कश्मीर के कई अलगाववादी नेताओं के खिलाफ भी एटीएस की टीम को कई सारे सबूत मिले हैं। लेकिन अभी इस मामले की छानबीन जारी है। लिहाजा एटीएस की टीम अपनी सभी कार्रवाइयों के बाद गोपनीयता बरतती है।

अपनी सरजमीन पर आतंकवाद को शह देने और दुनियाभर से भीख मांगने वाले पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स एशिया-पैसिफिक ग्रुप (एफएटीएफ एपीजी) ने पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट कर दिया है।

टेरर फंडिंग पर एनआईए की कड़ी कार्रवाई 2 साल पहले से ही जारी है। एनआईए ने अलगाववादी नेता सज्जाद लोन के करीबी व्यापारी आसिफ लोन, तनवीर अहमद, तारिक अहमद और बिलाल भट के घर कार्रवाई की।

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबल के जवानों पर पत्थरबाजी करने वालों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा विगत कई वर्षों से लगातार मदद की जा रही है। पत्थरबाज़ों को आईएसआई के साथ-साथ दुबई से भी आर्थिक मदद मिलती रहती है। इनकी मदद में नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास भी साथ देता है।

टेरर फंडिंग पर रोक लगाने के लिए मामले बड़ी कार्रवाई करते हुए केन्द्र सरकार ने हुर्रियत नेताओं की संपत्ति जब्त करने का फैसला किया है। सरकार के आदेश से 11 अलगाववादी नेताओं की संपत्ति जब्त होगी।

लश्कर सरगना एवं मुम्बई आतंकी हमले का मास्टरमाइंड हाफ़िज सईद के पैसों से जुड़ा हुआ गुरुग्राम में बंगला कुर्क कर दिया गया है। प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों के अनुसार गुरुग्राम में यह विला हाफ़िज सईद के फाइनेंसर कश्मीरी व्यापारी जहुर अहमद शाह वटाली ने खरीदा था।

यह भी पढ़ें