Swarnim Vijay Varsh

स्वर्णिम विजय मशाल (Swarnim Vijay Mashaal) 11 जुलाई को INS Kattabomman पर पहुंची। स्टेशन कमांडर कैप्टन आशीष के शर्मा के साथ-साथ गणमान्य लोगों ने गार्ड ऑफ ऑनर के साथ मशाल का स्वागत किया।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के बारामूला पहुंची स्वर्णिम विजय मशाल (Swarnim Vijay Mashal) ने भारतीय सैनिकों की 1971 के युद्ध की यादों को ताजा कर दिया। मशाल के बारामूला पहुंचने पर वहां उसका भव्य स्वागत किया गया।

देश के कई जगहों से होती हुई स्वर्णिम विजय मशाल (Swarnim Vijay Mashaal) होशियारपुर पहुंची। भव्य समारोह के बीच वज्र कॉर्प्स के गनर्स ने स्वर्णिम विजय मशाल को रिसीव किया।

भारतीय सेना (Indian Army) 1971 युद्ध को 50 साल पूरे होने पर शानदार जीत की गौरवशाली याद में इस साल को स्वर्णिम विजय वर्ष (Swarnim Vijay Varsh) के रूप में मना रही है।

पाकिस्तान पर शानदार विजय के 50 वर्ष पूरे होने पर स्वर्णिम विजय वर्ष (Swarnim Vijay Varsh) मनाया जा रहा है। इस मौके पर फरीदकोट पहुंची स्वर्णिम विजय मशाल ने भारतीय सैनिकों की 1971 की शौर्यगाथा की यादों को ताजा कर दिया।

यह भी पढ़ें