Rajnath Singh

धर्मांतरण को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि मतांतरण कराने के किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जायेगा।

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने पूर्वी लद्दाख की एक अग्रिम चौकी पर सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत बातचीत के माध्यम से पड़ोसी देशों के साथ विवादों को सुलझाना चाहता है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) 3 दिन के दौरे पर रविवार सुबह लद्दाख पहुंचे हैं। इस दौरान वह लेह-लद्दाख सीमा क्षेत्र पर सुरक्षा तैयारियों का जायजा लेंगे।

सात कंपनियां बनाई जाएंगी‚ उनमें एक गोला–बारूद और विस्फोटक समूह की होगी। इस प्रकार के उत्पादन में लगी सभी ऑर्डिनेंस फैक्टरियों (Ordnance Factories) को इसमें मर्ज किया जाएगा।

रक्षा मंत्री ने पाकिस्तान का नाम लिये बिना आतंकवाद को बढ़ावा देने, उसका समर्थन और वित्त पोषण करने और आतंकवादियों को शरण देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आह्वान किया।

इस योजना से भारतीय रक्षा और एयरोनॉटिक्स फिल्ड को कम समय में अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए नये, स्वदेशी और इनोवेटिव टेक्नोलॉजी तेजी से विकसित करने में मदद मिलेगी।

रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) के तहत आने वाले सभी प्रतिष्ठान मसलन सेना की तीनों शाखाएं‚ इंटिग्रेटेड डिफेंस स्टाफ‚ असम राइफल्स और अन्य सभी सूचनाएं रक्षा मंत्रालय के इतिहास विभाग को मुहैया कराएंगे जो इन्हें सुरक्षित रखेगा।

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने लिखा कि थल सेना, नौसेना और वायु सेना किस तरह से देशवासियों की जान बचाने में लगी हुई हैं। उन्होंने कहा कि इस वायरस से निपटने के लिए सेना को आपात वित्तीय शक्तियां दी गई हैं

अमेरिका (America) के रक्षा सचिव (मंत्री) लॉयड ऑस्टिन (Lloyd J Austin) आज यानी 19 मार्च को तीन दिवसीय भारत दौरे पर आ रहे हैं। यह उनकी पहली विदेश यात्रा का अंतिम पड़ाव है।

डीआरडीओ (DRDO) ने 22 फरवरी को स्वदेशी तकनीक से निर्मित एवं डिजाइन वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (वीएल-एसआरएसएएम) का दो सफल परीक्षण किया।

रक्षामंत्री (Rajnath Singh) ने आगे बताया, ‘‘हमारी सरकार देश के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रही है। सरकार उस शासन संरचना को बेहतर बनाने का भी प्रयास कर रही है जो अब तक मौजूद है।

रक्षामंत्री सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि गणतंत्र दिवस परेड के दौरान अलग-अलग दस्तों द्वारा किया जाने वाला मार्च देश की अनेकता में एकता का प्रतीक है और यह राष्ट्रीय गौरव की भावना व हमारी सशस्त्र सेनाओं की ताकत व तैयारी को दर्शाता है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने 11 फरवरी को संसद में चीन के साथ समझौते का ऐलान किया। इसके बाद शाम को ही लद्दाख सीमा से सेनाओं के पीछे हटने की तस्वीरें भी सामने आ गईं।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने 11 फरवरी को संसद (Parliament) के बजट सत्र (Budget Session) के दौरान राज्यसभा (Rajya Sabha) में चीन से जारी गतिरोध पर बयान दिया।

सिंह (Rajnath Singh) के अनुसार, क्षेत्र में कोरोना महामारी के बावजूद पाक ने लगातार बिना उकसावे के सीजफायर उल्लंघन (Ceasefire Violation) की आड़ में आतंकियों को कश्मीर में घुसपैठ कराने का लगातार प्रयास किया।

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने आगे बताया कि अनेक देशों ने तेजस लड़ाकू विमान को खरीदने में अपनी रुचि दिखाई है।भारत कुछ साल में रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में 1.75 लाख करोड़ रुपए के लक्ष्य को हासिल करेगा।

भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने महामारी के चरम पर होने के दौरान विदेशी श्रमिकों की मदद के लिए सिंगापुर (Singapore) के सशस्त्र बलों के प्रति आभार व्यक्त किया, जिनमें कई भारतीय नागरिक भी शामिल थे।

यह भी पढ़ें