Naxal areas

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित इलाकों (Naxal Affected Areas) में विकास पर जोर दिया जा रहा है। विकास के लिए सरकार लगातार बिजली, सड़क, स्वच्छ पेयजल आदि सुविधाएं लोगों तक पहुंचाने की कोशिश कर रही है।

बिहार (Bihar) के नक्सल प्रभावित इलाकों (Naxal Affected Areas) रोहतास और कैमूर जिले के पर्यटन स्थलों का विकास (development of tourist places) किया जाएगा।

बालाघाट (Balaghat) जिले के नक्सल प्रभावित इलाके (Naxal Areas) के ऐसे युवक-युवती जिन्होंने 5वीं, 8वीं या 12 वीं के बाद पढ़ाई नहीं की है, उन्हें रोजगार से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है।

बिहार (Bihar) के औरंगाबाद जिले के नक्सली इलाके (Naxal Areas) में अब सड़कों का जाल बिछेगा। केंद्र सरकार की नक्सल क्षेत्र में (वामपंथ उग्रवाद) एलडब्ल्यूई योजना के तहत सड़कों का निर्माण होगा।

बिहार (Bihar) के जमुई जिले से सटे झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह जिले के नक्सल प्रभावित इलाके तिलकडीह पंचायत में सड़क और पुल का निर्माण जल्द ही शुरू होगा।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर (Bijapur) जिले के धुर नक्सल प्रभावित इलाकों (Naxal Areas) में सालों से बंद पड़े स्कूल अब खुल गए हैं।

झारखंड (Jharkhand) के नक्सल प्रभावित इलाकों (Naxal Areas) के विकास की रफ्तार में तेजी आ रही है। इन इलाकों के दो हजार गांवों में सोलर एनर्जी का इस्तेमाल कर जलापूर्ति हो रही है।

Naxalites News: अधिकारियों ने बैठक की है और विशेष केंद्रीय सहायता योजना (Special Central Aid Scheme ) की समीक्षा की है।

यह भी पढ़ें