MM Naravane

आर्मी चीफ (Gen MM Naravane)  ने बताया था कि हम किसी भी दुस्साहस का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं और हमारी सेना ने हाल ही में इसका सबूत दे दिया है।

हेवी व्हीकल्स फैक्ट्री को मिले इस आर्डर से ‘एमएसएमई’ सहित 200 से अधिक भारतीय कंपनियों के लिए रक्षा निर्माण में एक बड़ा अवसर खुलेगा और करीब 8,000 लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

सेना (Indian Army) के डॉक्टर भी इस महामारी से लड़ने में लगे हुए हैं। 2014 में जब घाटी में पहली बार बाढ़ आई थी तब भी सेना ने बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला था और उन्हें खाद्य सामग्री आदि की भी मदद की थी।

भारतीय सेना के अतिरिक्त लोक सूचना महानिदेशालय (एडीजी पीआई) ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। उनके मुताबिक‚ जनरल एम एम नरवणे (MM Naravane) ने 10 इन्फैन्ट्री डिवीजन का दौरा किया और बांग्लादेश की सेना के अधिकारियों से बातचीत की।

जनरल नरवणे डीएसएससी कॉलेज के दो दिवसीय दौरे पर हैं। जहां उन्होंने कॉलेज में 76वें स्टॉफ पाठ्यक्रम में शामिल अधिकारियों और संकाय सदस्यों को व्याख्यान दिया।

जनरल नरवणे (MM Naravane) के अनुसार, हमारा मूल मुद्दा यह है कि उन्हें आतंकवाद को रोकने का समर्थन करना होगा। जब तक वे इसे नहीं रोकेंगे‚ चीजें सामान्य नहीं हो सकतीं।

इस मौके पर सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवाने (General MM Naravane) ने राष्ट्र के लिए अपनी सेवा के लिए सभी सेवानिवृत्त अधिकारियों की सराहना की।

घरेलू रक्षा उत्पादन को बढ़ावा देने की दिशा में निजी उद्योगों को सरकार की सुधार पहल का फायदा उठाने के लिए प्रोत्साहित करते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि सेना भी इसका पूरा समर्थन कर रही है।

Army Day 2021: करियप्पा के भारतीय थल सेना के शीर्ष कमांडर का पद संभालने की वजह से हर साल यह दिन मनाया जाता है। आज सेना का 73वां स्थापना दिवस है।

आर्मी डे के मौके पर आर्मी प्रमुख एमएम नरवणे ने करिप्पा ग्राउंड पर परेड का निरीक्षण किया। इस मौके पर नरवणे ने संबोधन भी दिया।

आर्मी चीफ (Army Chief) जनरल एम एम नरवणे (General M M Naravane) ने पाकिस्‍तान (Pakistan) और चीन (China) को एक साथ खतरा बताते हुए कहा कि यह ऐसी हकीकत है जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता।

सेना प्रमुख अपनी इस यात्रा के दौरान द्विपक्षीय सहयोग समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा करेंगे। वह दक्षिण कोरिया के शीर्ष अधिकारियों से बातचीत करेंगे।

भारत और चीन के बीच तनाव जारी है। इस बीच बुधवार को सेना प्रमुख एम.एम.नरवणे लेह पहुंचे। यहां उन्होंने सेना अधिकारियों से मुलाकात की।

सेना प्रमुख (MM Naravane) ने रेचिन ला इलाके में जवानों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने स्थानीय तैयारियों की तारीफ की।

यह भी पढ़ें