Ladakh

Abhishek Sahu को सैनिक अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन खून ज्यादा बहने की वजह से उन्हें बचाया नहीं जा सका। अभिषेक के पिता की 20 साल पहले ही मौत हो चुकी है।

India China Dispute: भारत-चीन के बीच लद्दाख में गतिरोध जारी है। लेकिन अब खबर सामने आ रही है कि लद्दाख में पड़ने वाली ठंड ने चीनी सेना के होश उड़ा दिए हैं।

लद्दाख में LAC पर भारत और चीन (China) के बीच तनाव बरकरार है। तमाम दौर की बातचीत के बाद भी ये तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है।

लद्दाख के कारगिल इलाके को कश्मीर घाटी से जोड़ने वाली जोजिला टनल (Zojila tunnel) के निर्माण का काम शुरू हो गया है। इस टनल की लंबाई 14.15 किलोमीटर है।

लद्दाख में पड़ रही ठंड ने चीनी सेना को बड़ा नुकसान पहुंचाया है। पैंगोग झील के उत्तरी किनारे पर चीनी (China) सैनिकों को ठंड की वजह से जान गंवानी पड़ रही है।

लद्दाख (Ladakh) में भारत और चीन के बीच जारी तनातनी के बीच एक नई खबर सामने आई है। अब लद्दाख में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) 2 साल में 45 नए पुल बनाएगा।

लद्दाख में भारत और चीन के बीच गतिरोध जारी है। इस बीच पूर्वी लद्दाख में सेना की फायर एंड फ्यूरी कोर (14 कोर) की कमान लेफ्टिनेंट जनरल पीजेके मेनन को दी गई है।

राजनाथ ने कहा, 'इन पुलों के निर्माण से सैन्य और नागरिक परिवहन की सुविधा बढ़ेगी।' बता दें कि 44 पुलों में से 22 पुल चीन सीमा के पास हैं।

भारतीय सेना लगातार अपनी ताकत बढ़ा रही है। शनिवार को जम्मू कश्मीर और लद्दाख के 301 युवा भारतीय सेना में शामिल हो गए।

India China Tension: एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने कहा कि वायुसेना किसी भी हालात का जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार है। न युद्ध और न शांति की स्थिति है।

भारत का स्टैंड साफ है कि हम ए टू जेड पूरे पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) की बात कर रहे हैं। मई में चीन  (China) ने पैंगोंग इलाके में घुसपैठ की कोशिश की थी लेकिन देपसांग की दिक्कत उससे काफी पहले की है।

Gopalbabu Shukla मूल रूप से यूपी के कन्नौज के रहने वाले थे। परिजनों का कहना है कि सेना ने उन्हें अभी ये जानकारी नहीं दी है कि गोपालबाबू कैसे शहीद हुए।

India China Tension: लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव जारी है। इस तनाव को दूर करने के लिए आज भारत और चीन के अधिकारियों के बीच बातचीत होगी।

India China Clash: लद्दाख में एक ऐसा परिवार भी है, जिसके दोनों बेटे भारत-चीन सीमा पर तैनात हैं। इन जवानों के पिता खुद को खुशनसीब मानते हैं।

मेजर दीक्षांत थापा (Dikshant Thapa) भारतीय सेना के मेकेनिकल विंग सिक्स मैक के 140 रेजीमेंट के अधिकारी थे। वह 4 साल पहले ही सेना में भर्ती हुए थे।

चीन (China) और भारत का पहले से ही विवाद चल रहा है और अब 29-30 अगस्‍त की रात को एक बार फिर पूर्वी लद्दाख में चीन और भारत के बीच झड़प हुई है।

लेह लद्दाख में तैनात मनोज कुमार (Manoj Kumar) गुरुवार को शहीद हो गए। बताया जाता है कि ऑक्सीजन की कमी के कारण उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया।

यह भी पढ़ें