Ladakh

भारतीय सैनिकों का एक वीडियो (Indian Soldiers Dance Video) वायरल हो रहा है। इसमें पैंगोंग लेक के पास भारतीय जवान डांस कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने ये वीडियो शेयर किया है।

राजस्थान के झुंझुनूं जिले के जवान विक्रम सिंह (Vikram Singh) नरूका लद्दाख में ड्यूटी के दौरान शहीद हो गए। उनका पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंच चुका है।

India China Dispute: ये बैठक मोल्डो में हुई जो 20-21 फरवरी रात बजे खत्म हुई। सेना के सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में विवादित क्षेत्रों पर चर्चा हुई।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने 11 फरवरी को संसद में चीन के साथ समझौते का ऐलान किया। इसके बाद शाम को ही लद्दाख सीमा से सेनाओं के पीछे हटने की तस्वीरें भी सामने आ गईं।

भारत और चीन के बीच पैंगोंग झील (Pangong Tso) के उत्तरी एवं दक्षिणी किनारों पर सेनाओं के पीछे हटने का समझौता हो गया और दोनों देशों के सैनिक पीछे हटना शुरू हो गए हैं।

पूर्वी लद्दाख में पैंगॉन्ग झील (Pangong) के उत्तरी और दक्षिणी छोर पर तैनात भारत और चीन के अग्रिम पंक्ति के सैनिकों ने पीछे हटना शुरू कर दिया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 11 फरवरी को इसकी जानकारी राज्यसभा में दी।

Indian Army in Ladakh: बर्फीले सीमा क्षेत्रों में पानी पूरी तरह से बर्फ बन जाता है। पानी के प्राकृतिक स्रोत खत्म हो जाते हैं। आवाजाही प्रभावित हो जाती है।

पूर्वी लद्दाख से लगती चीनी सीमाओं पर डटे करीब 50 हजार भारतीय सेना (Indian Army) जवान बीते कई महीनों से सरहद की पहरेदारी कर रहे हैं। इसके लिए वे बर्फीली सर्दी में अपनी जान की परवाह भी नहीं कर रहे हैं।

Special Frontier Force: इस फोर्स के बारे में जानकारी तब आई, जब इसके एक जवान को चीन के खिलाफ ऑपरेशन के लिए वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

जवानों को बर्फ में चलने के लिए स्टिक और स्पेशल जूते भी दिए जाते हैं।  ठंड में सेना के जवान ऑफ ड्यूटी के दौरान इन्हीं टेंट्स में रहकर अपना समय व्यतीत करते हैं। 

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव जारी है। इस बीच चीन की तरफ से एक बड़ी खबर सामने आई है। चीन ने LAC से अपने 10 हजार सैनिकों को हटा लिया है।

एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने लद्दाख का दौरा किया है। इस दौरान उन्होंने यहां मौजूद सेना की तैनाती का जायजा लिया और हालतों को बारीकी से परखा।

भारतीय सेना LAC और LoC दोनों ही जगह पूरी तत्परता के साथ डटी हुई है। सेना ने दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने की कसम खा ली है।

भारत और चीन के बीच लद्दाख में गतिरोध जारी है। इस बीच शुक्रवार को एक चीनी सैनिक भारतीय सीमा में घुस आया था, जिसे भारतीय सेना ने गिरफ्तार कर लिया था।

भारतीय सैनिकों ने लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर चीन के एक सैनिक (Chinese Soldier) को पकड़ा है। सूत्रों के मुताबिक, चीन का सैनिक 8 जनवरी  तड़के पकड़ा गया।

भारतीय जवान जमा देने वाली सर्दी में भी सरहदों की निगहबानी में डटे हैं, जबकि चीनी सैनिकों की हालत खराब हो गई है। इसलिए चीन (China) को अपनी रणनीति बदलनी पड़ रही है।

लद्दाख (Ladakh) में चीन (China) के साथ चल रहे तनाव के मद्देनजर सेना (Army) के जवानों को जरूरी तकनीकियों से लैस किया जा रहा है। लेह (Leh) में मौसम विभाग के बुनियादी ढांचा को एडवांस किया जा रहा है।