LAC

चीन (China) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। भारतीय खुफिया एजेंसियों को वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर लद्दाख, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में जानकारी प्राप्त करने के प्रयास में चीन की हरकतों का पता चला है।

भारतीय सेना (Indian Army) देश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक गुजरने के तैयार रहती है। सेना के जवान किसी भी चुनौती का सामना कर भारत मां की रक्षा करते हैं। हर देशवासी को हमारे जवानों पर गर्व है और हमेशा रहेगा।

भारतीय सेना (Indian Army) के इंजीनियरों ने माहौल को देखते हुए LAC के पास श्योक नदी पर मात्र 3 दिन में पुल का निर्माण कर दिया।

लद्दाख में LAC पर तापमान लगातार गिर रहा है। फिलहाल यहां पारा -30 डिग्री तक पहुंच रहा है। हालात ये हैं कि पैगॉन्ग झील (Pangong Lake) का पानी भी ठंड में जमकर बर्फ बनने लगा है। हाड़ कंपाती ठंड से परेशान होकर चीन के सैनिक LAC पर पीछे हट गए हैं।

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव जारी है। इस बीच चीन की तरफ से एक बड़ी खबर सामने आई है। चीन ने LAC से अपने 10 हजार सैनिकों को हटा लिया है।

भारतीय सैनिकों ने लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर चीन के एक सैनिक (Chinese Soldier) को पकड़ा है। सूत्रों के मुताबिक, चीन का सैनिक 8 जनवरी  तड़के पकड़ा गया।

LAC पर जारी तनाव के बीच विदेश मंत्रालय ने 8 जनवरी को कहा कि भारत और चीन ने किसी भी गलतफहमी और गलत आकलन करने से बचने के लिए जमीनी स्तर पर संवाद कायम रखा है।

India China Dispute: मिली जानकारी के मुताबिक, चीन ने LAC पर रेजांग ला, रेचिन ला और मुखोसरी पर टैंक तैनात किए हैं। इन टैंकों की संख्या करीब 30 से 35 है।

सूत्रों के मुताबिक, आईटीबीपी का कहना कि अगर उसके जवानों की तैनाती आंतरिक सुरक्षा के कामों में जारी रही, तो उन्हें एक अच्छा ब्रेक मिलेगा।

सभी राष्ट्रीय राजमार्ग जो चीन की सीमा (China Border)  तक जाने के लिए फीडर सड़कों के रूप में हैं या राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए रणनीतिक महत्व रखते हैं, उन्हें 10 मीटर यानी 32 फीट से ज्यादा चौड़ा किया जाएगा।

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) ने कहा है कि कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन ने यथास्थिति बदलने की कोशिश की है, लेकिन हमारे जवान सीमा की सुरक्षा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

अधिकारी ने ये भी बताया कि मई में ही सेना को उन 6-7 जगहों की पहचान करने के लिए कहा गया था, जहां हम जा सकते थे।

भारतीय जवान जमा देने वाली सर्दी में भी सरहदों की निगहबानी में डटे हैं, जबकि चीनी सैनिकों की हालत खराब हो गई है। इसलिए चीन (China) को अपनी रणनीति बदलनी पड़ रही है।

India China standoff: लद्दाख में भारत और चीन के बीच अभी भी मतभेद जारी है। लेकिन मौसम बदलने की वजह से LAC पर कड़ाके की ठंड पड़ रही है।

LAC पर भारत-चीन तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) संघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) की बैठक में शामिल होने जा रहे हैं।

LAC पर तनाव को लेकर आज भारत और चीन के बीच एक बार फिर कोर कमांडर स्तर की बातचीत हो रही है। आज चुशूल में कोर कमांडर स्तर की आठवें दौर की बातचीत हो रही है।

सेना (Army) के आला अफसर पूर्वी लद्दाख में LAC पर चीन के साथ जारी तनाव के बीच 26 अक्टूबर को लद्दाख और आसपास के इलाकों में युद्ध की तैयारियों का जायजा लेंगे।

यह भी पढ़ें