JHARKHAND

झारखंड के नक्सल प्रभावित गिरिडीह जिले के पीरटांड़ के ठेकेदार निरंजन सिंह हत्याकांड में शामिल दूसरे हार्डकोर नक्सली (Naxali) देबु टुडु को पुलिस ने भेजा जेल।

जिले के लेस्लीगंज से लहलहे तक सड़क निर्माण कार्य में लगे हाईवा को TPC नक्सली संगठन ने 26 दिसंबर की रात को फूंक दिया। हाइवा को जलाने के बाद घटनास्थल पर पर्चा छोड़ कर संगठन ने इस घटना की जिम्मेदारी ली है।

नक्सल प्रभावित झारखंड की राजधानी रांची जिला मुख्यालय से लगभग 27 किलोमीटर दूर ओरमांझी ब्लॉक के टुंडाहुली पंचायत के दो गांव आरा और केरम में 110 घर हैं। जिसमें लगभग 800 लोग रहते हैं।

झारखंड के लोहरदगा जिले में एक बार फिर लैंडमाइंस (Landmines) विस्फोट हुआ है। 25 दिसंबर को जिले के सुदूरवर्ती बगड़ू थाना क्षेत्र के केकरांग झरना के पास लैंडमाइंस ब्लास्ट हुआ। इस ब्लास्ट में सीआरपीएफ का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया है।

झारखंड के लोहरदगा जिले के पेशरार थाना क्षेत्र के केकरांग झरना के पास नक्सलियों (Naxalites) ने लैंडमाइंस लगा रखा था, जिसमें विस्फोट होने से एक लड़की की मौत हो गई, जबकि एक महिला सहित दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

झारखंड में नक्सलियों (Naxals) का तांडव एक बार फिर सामने आया है। एक ओर राज्य के सरायकेला-खरसावां जिले के चौका थाना क्षेत्र स्थित दिरलोंग के समीप पालना डैम नहर निर्माण में लगे वाहनों को नक्सलियों (Naxals) ने 22 दिसंबर की रात को आग के हवाले कर दिया।

झारखंड के नक्सल प्रभावित खूंटी जिले से पुलिस ने फरार चल रहे दो नक्सलियों (Naxals) के गिरफ्तार किया। पिछले आठ सालों से फरार दो नक्सलियों को जिले की अड़की पुलिस ने 21 दिसंबर को गिरफ्तार कर लिया।

झारखंड की सीमा से लगे छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले का चांदो इलाका एक दौर में नक्सल आतंक से जूझ रहा था। यहां नक्सलियों (Naxals) की दहशत की वजह से विकास का कोई काम नहीं हो पाता था।

झारखंड के लोहरदगा जिले की कुडू थाना पुलिस ने 22 दिसंबर को पीएलएफआइ (PLFI) के हार्डकोर नक्सली को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार नक्सली की पहचान बंधन सिंह के रूप में हुई है।

झारखंड के प्रतिबंधित संगठन पीएलएफआई (PLFI) के दो नक्सलियों को पश्चिम सिंहभूम जिला पुलिस ने गिरफ्तार कर चाईबासा जेल भेज दिया है।

झारखंड के पलामू जिले के छतरपुर थाना क्षेत्र से टीपीसी (तृतीय प्रस्तुति कमिटी) के एरिया कमांडर समेत दो उग्रवादियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

झारखंड के लातेहार और लोहरदगा के जंगली इलाके में नक्सली (Naxals) बम प्लांट कर रखे हैं। इसके कारण जंगली इलाकों में जलावन के लिए सूखी लकड़ियां लाने जाने वाले ग्रामीण सहमे हुए हैं।

झारखंड की पलामू पुलिस ने माओवादी नक्सली (Naxalite) अरुंजय उर्फ दुखन को 18 दिसंबर की सुबह गिरफ्तार कर लिया। बताया जाता है कि गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने इस नक्सली को गिरफ्तार किया। वह कई महीनों से फरार चल रहा था।

झारखंड के खूंटी जिले में पीएलएफआइ (PLFI) के नक्सली अनिल हेरेंज कोकर्रा पुलिस ने 19 दिसंबर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

झारखंड के खूंटी जिले के सायको थानांतर्गत एटकेडीह में 16 दिसंबर की रात नक्सलियों (Naxals) ने नवनिर्मित सामुदायिक भवन सह प्रशिक्षण केंद्र को बम से उड़ाने का प्रयास किया।

झारखंड से नक्सलवाद (Naxalism) के खात्मे के लिए सरकार कमर कस चुकी है। राज्य में में नक्सलियों के खात्मे के लिए लगातार सुरक्षाबलों के द्वारा अभियान चलाया जा रहा है।

झारखंड की दुमका (Dumka) पुलिस को मिली बड़ी सफलता, सर्च अभियान के दौरान पुलिस ने बरामद किए नक्सलियों के हथियार।

यह भी पढ़ें