Jatindra Nath Das

जतिन्द्रनाथ की अंतिम यात्रा के दौरान संपूर्ण कलकत्ता जतिन दास अमर रहे... इंकलाब जिंदाबाद के नारों से गूंजायमान हो गया।