Jammu kashmir

जम्मू कश्मीर में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया। यह मुठभेड़ बारामूला जिले के सोपोर में 20 अप्रैल की सुबह हुई। सोपोर में सुरक्षाबल की एक टीम गश्त कर रही थी कि अचानक एक आतंकी ने सुरक्षाबल के जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी।

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबल के जवानों पर पत्थरबाजी करने वालों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा विगत कई वर्षों से लगातार मदद की जा रही है। पत्थरबाज़ों को आईएसआई के साथ-साथ दुबई से भी आर्थिक मदद मिलती रहती है। इनकी मदद में नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास भी साथ देता है।

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा में 17 अप्रैल की रात आतंकियों ने ग्रेनेड हमला किया। जिले के त्राल इलाके में सीआरपीएफ कैंप को निशाना बनाकर दागे गए ग्रेनेड से एक जवान घायल हो गया।

जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में 14 अप्रैल को सर्च ऑपरेशन के दौरान मेजर विकास सिंह शहीद हो गए। मेजर विकास अंबुश लगाते समय खाई में गिर गए थे।

जम्मू कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चल रहे मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने अब तक दो आतंकियों को ढेर कर दिया है।

9 अप्रैल को दोपहर जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में आतंकियों ने आरएसएस नेता और उनके सुरक्षा में तैनात पीएसओ को गोली मार दी। आतंकी मौके से फरार हो गए।

शहीद राम वकील का परिवार अभी उनकी शहादत के गम से उबर भी नहीं पाया था कि कुछ दबंगों ने उनके परिजनों पर कहर बरसाना शुरू कर दिया। वो भी उस चिता की जमीन के लिए जिस पर शहीद रामवकील माथुर का अंतिम-संस्कार हुआ था। डरे-सहमे परिवार वाले अब अधिकारियों से मदद की गुहार लगा रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में अदम्य साहस का परिचय देते हुए हिमाचल प्रदेश के अजय कुमार शहीद हो गए थे। अजय कुमार (Martyr Ajay Kumar) सिरमौर जिले के कोटला पंजोला पंचायत के रहने वाले थे। वे 42 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात थे।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा के लेथपोरा में 2017 में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के कैंप पर हमले के साजिशकर्ता और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी निसार अहमद तांत्रे को संयुक्त अरब अमीरात ने भारत को सौंप दिया है। निसार अहमद को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने राजधानी दिल्ली के हवाईअड्डे पर गिरफ्तार किया।

बनिहाल कार ब्लास्ट के शुरूआती जांच के बाद कार के ड्राइवर का पता चल गया है। कार ड्राइवर के संदिग्ध आतंकी होने की आशंका लगाई जा रही है। कार चलाने वाले संदिग्ध आतंकी का नाम ओवैस अमीन है। जो जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले का रहने वाला है।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक फरार आतंकवादी को गिरफ्तार किया है। स्पेशल सेल के पुलिस आयुक्त ने बताया कि गिरफ्तार आतंकवादी की पहचान फैयाज अहमद लोन के रूप में हुई है। वह जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले का रहने वाला है। उसे श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया है।

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के लस्सीपोरा में 1 अप्रैल की सुबह हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के चार आतंकियों को मार गिराया है। इनमें लश्कर कमांडर जफर अहमद पॉल भी शामिल है। वह कई आतंकी वारदातों में शामिल था। खुफिया एजेंसी की ओर से लस्सीपोरा इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। मारे गए आतंकवादियों के पास से दो एके राइफल्स, 1 एसएलआर और 1 पिस्टल बरामद किया गया है।

जम्मू-कश्मीर के बनिहाल में एक कार में धमाका होने से अफरा तफरी मच गई। घटना 30 मार्च सुबह 10:30 बजे की है। बड़ी बात यह है कि जिस वक़्त कार में धमाका हुआ उस वक़्त वहां से सीआरपीएफ जवानों का काफिला गुजर रहा था।

जम्मू-कश्मीर जैसे अतिसंवेदनशील इलाकों में सेना और सुरक्षाबल कई तरह से अपना जिम्मेदारी का निर्वाह कर रहे हैं। एक तरफ वे आमजन की सुरक्षा के लिए आतंकियों से दो-दो हाथ कर रहे, पत्थरबाजों का सामना कर रहे, तो दूसरी तरफ लोगों में जागरूकता लाने का भी काम कर रहे।

जम्मू-कश्मीर में अपनी पैठ बनाने के लिए प्रशासन के साथ-साथ सेना भी पूरी कोशिश में लगी है। युवाओं तक पहुंच कायम करने के अपने प्रयासों के तहत भारतीय सेना ने 28 मार्च को पर्वतीय जिले रियासी में एक साइकिलिंग अभियान का आयोजन किया।

जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में 29 मार्च को सुरक्षाबलों ने एक मुठभेड़ में दो आतंकियों ने मार गिराया है। यह मुठभेड़ बड़गाम के सुथुकला के छत्तरगाम में हुई। मारे गए आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के बताए जा रहा हैं। इलाके में अब भी कुछ आतंकियों के छिपे होने की आशंका है। सुरक्षाबलों की कार्रवाई जारी है।

जम्मू-कश्मीर में दो अलग-अलग जगहों पर हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया है। जिसमें 3 आतंकी दक्षिण-कश्मीर के शोपियां में और 2 आतंकी कुपवाड़ के हंदवाड़ा में मारे गए हैं।

यह भी पढ़ें