Jammu and Kashmir police

कर्नल शर्मा ने ये जिम्मेदारी स्वाति के सिर पर थोप दी। साथ में तीन लोगों की एक टीम भी उसके हवाले कर दी। वैसे उनके हिसाब से ये सब जरूरी तो था पर उतना नहीं जितना कि फील्ड में आतंकवादियों का एनकाउंटर करना।

चिल्लाती भीड़ के उग्र रूप पर इसका कोई असर नहीं पड़ा था। तीनों ने गाड़ी के अंदर अपने आप को बंद कर लिया। मंजूर ने अपने हाथ सीट के नीचे छुपे हथियारों की तरफ बढ़ाए ही थे कि सुरेश ने उसको इशारे से मना कर दिया।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के राजोरी जिले में सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम ने आतंकियों (Terrorists) के खिलाफ बड़ी कामयाबी हासिल की है। जिले के खवास इलाके के गडोग के घने जंगलों में जवानों ने आतंकियों का एक ठिकाना (Terrorist Hideout) ध्वस्त किया है।

Jammu and Kashmir: जम्मू कश्मीर पुलिस देश की एक मात्र ऐसी पुलिस है, जिसने आतंकवाद से लड़ने के लिए विशेष दस्ता सबसे पहले तैयार किया था।