Indian Air Force

भारतीय सेना वक्त के साथ-साथ तेजी से अत्याधुनिक हुई है। इसका अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि हमारी तीनों सेनाएं किसी भी वक्त सुपरपॉवर बनने की दिशा में अग्रसर चीन के खिलाफ भी मोर्चा संभाल सकती है।

Indian Air Force Recruitment: परीक्षा 18 अप्रैल से 22 अप्रैल तक होगी। जो उम्मीदवार इसमें चयनित होंगे, उन्हें 14600 रुपए का स्टाइपेंड मिलेगा।

IAF Pilot: कई युवाओं का सपना भारतीय वायु सेना (Indian Air Force)  में पायलट बनने का होता है। देश सेवा के लिए Indian Air Force में जाना और पायलट बनना अपने आप में गर्व की बात है।

भारतीय सेना (Indian Army) के पास कई अत्याधुनिक हथियार हैं। सेना जब चाहे इनका इस्तेमाल कर दुश्मन देशों को भस्म कर सकती है। युद्ध में टैंक का बखूबी इस्तेमाल होता है।

साल 2014 में भारत–फ्रांस वायुसेना के संयुक्त युद्धाभ्यास गरुड़ में राफेल (Rafale) जोधपुर में अपनी ताकत दिखा चुका है। उस समय राफेल और सुखोई के बीच रोमांचक मुकाबला देखने को मिला था।

भारतीय सीमाओं पर ड्रोन (Drone) की भूमिका काफी अहम होती जा रही है। पाकिस्तान और चीन की सीमाओं पर किसी तरह की गतिविधि को इन ड्रोन के जरिए देखा जा सकता है।

भारतीय सेना (Indian Army) देश की सीमा की रक्षा के लिए तत्पर रहती है। सेना के जवान हर मोर्चे पर तैनात रहते हैं ताकि हम सुकून की नींद ले सकें। सेना के इस जज्बे को हर नागरिक सलाम करता है।

सीमा पर तैनात हमारे वीर सपूतों को पूरा ख्याल रखा जाता है। जवानों को सरहद पर किसी तरह की कमी न हो इसके लिए कई इंतजाम किए जाते हैं। हमारे जवान सर्दी हो चाहे गर्मी, हर वक्त देश की रक्षा के लिए खड़े रहते हैं।

भारतीय वायुसेना पहले की अपेक्षा अब और ज्यादा मजबूत होने वाली है। इसका कारण ये है कि अब भारतीय वायुसेना को 83 लड़ाकू विमान तेजस मिलेंगे।

बंदूकों के जरिए विशेष क्रम की फायरिंग की जाती है जो कि एक शहीद सैनिक के सम्मान और बलिदान को प्रकट करती है। इस सैन्य परंपरा को '21-गन सल्यूट' कहा जाता है।

भारतीय सेना (Indian Army) दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सेना है। भारतीय सेना के बारे में कई अहम और रोचक बातें हैं जो लोगों को शायद ही पता हों। सेना की अलग प्रशासनिक संरचना है।

वायुसेना प्रमुख (Air Chief Marshal) आरकेएस भदौरिया (RKS Bhadauria) ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा है कि दोनों देशों के बीच सीधा टकराव चीन के लिए नुकसानदेह साबित होगा।

Indian Air Force: कारगिल युद्ध में मिग 27 ने अपनी जांबाजी से दुश्मनों को धूल चटा दी थी। कारगिल युद्ध में भारतीय पायलटों ने मिग 27 को ‘बहादुर’ नाम दिया था।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 में भीषण युद्ध लड़ा गया था। भारत ने 1962 में चीन के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। उस युद्ध में हार मिली, तो पाकिस्तान को लगा कि भारत कमजोर है और कश्मीर हड़पने का यही सही वक्त है।

फील्ड मार्शल (Field Marshal) भारतीय सेना (Indian Army) के कमीशन अधिकारी की सबसे बड़ी रैंक है। अब तक सिर्फ दो ही लोगों को इससे नवाजा गया है। फील्ड मार्शल के. एम. करियप्पा और फील्ड मार्शल सैम मानेक शॉ को यह रैंक दी गई है।

भारतीय सेना (Indian Army) के 54 जवान आज भी पाकिस्तान की जेल में बंद है। पाकिस्तान इन सैनिकों को रिहा नहीं कर रहा है। पाकिस्तान बीते कई सालों से अपना काला चेहरा दिखाता आया है।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में भीषण युद्ध लड़ा गया था। इस युद्ध में पाकिस्तानी सेना के खिलाफ हमारे सैनिकों ने जबरदस्त प्रदर्शन किया था। इससे पहले 1965 युद्ध के दौरान पठानकोट वायुसेना स्टेशन (Pathankot Air Base) पर पाकिस्तान ने हमला किया था।

यह भी पढ़ें