India China Clashes

भारत और चीन की सेना के बीच 12वें दौर की वार्ता के बाद चीन दोनों देश पूर्वी लद्दाख स्थित पेट्रोलिंग प्वाइंट 17A से अपनी-अपनी सेना पीछे हटाने को राजी हो गए हैं।

शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने कहा कि किसी को भी हमारी क्षमता को लेकर मुगालते में नहीं रहना चाहिए और चीनी लोग अपनी राष्ट्रीय संप्रभुता व क्षेत्रीय अस्मिता की रक्षा करने में समर्थ हैं।

चीन (China) ने बुधवार को अपने कदम का बचाव करते हुए कहा कि भारत के साथ सीमा विवाद को शांतिपूर्ण बातचीत से सुलझाया जाना चाहिए।

खुफिया सूचना और चीन की हरकत के बाद से डीआरडीओ (DRDO) की अलग-अलग लैब में खास उपकरण तैयार किए जा रहे है। जिनका उपयोग सैनिक कर रहे हैं।

अमेरिका और भारत के बीच सैन्य संबंध अब तक के सर्वश्रेष्ठ स्तर पर हैं और अमेरिका द्विपक्षीय तथा बहुपक्षीय सहयोग‚ अभ्यास‚ उच्च स्तरीय संयुक्त अभियानों और शीर्ष स्तर पर सहयोग के मामलों को लगातार बढ़ा रहा है।

यह भी पढ़ें