Imran khan

Pakistan Plane Crash: पाकिस्तान (Pakistan) के कराची में बड़ा विमान हादसा हुआ है।  कराची में 22 मई को एक यात्री विमान लैंड होने से पहले क्रैश हो गया। यह प्लेन लाहौर से कराची आ रहा था।

भारतीय सेना (Indian Army) की जवाबी कार्रवाई से पाकिस्तान (Pakistan) को घबराहट हो रही है। यही वजह है कि प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने आईएसआई (ISI) चीफ के साथ राष्ट्रपति से मुलाकात की।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की बौखलाहट 5 फरवरी को उस वक्त दिखी जब आतंकवाद पर लगाम नहीं लगाने के संदर्भ में मोदी द्वारा पाकिस्तान को दी गई चेतावनी पर इमरान ने कहा कि "मोदी यह जान लें कि पाकिस्तान पर हमला उनकी आखिरी गलती होगी।"

पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर अपने सबसे करीबी देश सऊदी अरब का भी साथ नहीं मिल रहा है। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान (Pakistan) की बौखलाहट खत्म होने का नाम नहीं ले रही है।

'एक्सप्रेस न्यूज' की रिपोर्ट के मुताबिक, मलेशिया के दौरे पर आए इमरान ने एडवांस इस्लामिक स्टडीज इंस्टीट्यूट में 4 फरवरी को अपने संबोधन में कहा कि 'भारत फासीवाद और चरमपंथ के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है और अगर इसने यह रास्ता नहीं छोड़ा तो यह कई टुकड़ों में विभाजित हो जाएगा।'

भारत के खिलाफ दुष्प्रचार में जी जान से जुटे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने कूटनीतिक मामले में आखिरकार भारत के सामने अपनी हार मान ली है।

पाकिस्तान मौका मिलते ही अपना रंग दिखाना शुरू कर देता है। दरअसल, ब्रिटेन के प्रिंस विलियम अपनी पत्‍नी के साथ पाकिस्‍तान के पांच दिवसीय यात्रा पर इस्‍लामाबाद पहुंचे हैं।

पाकिस्तान की एक साप्ताहिक मैगजीन का खुलासा इमरान खान (Imran Khan) के क्रिया कलाप से नाराज हो गए थे सऊदी...

पाक पीएम ने ट्वीट कर कहा है कि अगर कश्मीरियों की मदद करने के लिए पाकिस्तान की ओर से कोई भी LoC पार करता है, तो भारत दुनिया के सामने उसे पाकिस्तान प्रायोजित इस्लामी आतंकवाद करार देता है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 29 सितंबर को अमेरिका से लौटने के बाद एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा है। इमरान खान ने कहा कि जो लोग कश्मीरियों के साथ खड़े हैं वे 'जिहाद' कर रहे हैं और पाकिस्तान कश्मीरियों का साथ देगा।

संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र (UNGA) में अपने भाषण से पहले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने एकबार फिर कश्मीर पर रोना रोया है। अपने संबोधन से पहले उन्होंने कहा कि वह सिर्फ जम्मू-कश्मीर का मसला उठाने के लिए ही यहां पर आए हैं।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान जम्मू-कश्मीर का मसला बार-बार अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन हर तरफ से उन्हें निराशा ही हाथ लग रही है और साथ ही शर्मिंदगी भी उठानी पड़ रही है।

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान की वैश्विक स्तर पर समर्थन जुटाने की कोशिश जी जान से जारी है। इसी सिलसिने में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 19 सितंबर को जेद्दा में सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात की।

भारत को बार-बार धमकी देने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान लगता है अब डर गए हैं। 18 सितंबर को उन्होंने पाकिस्तानियों को चेतावनी दी कि वे जिहाद के लिए कश्मीर नहीं जाएं, क्योंकि इससे कश्मीरियों को नुकसान पहुंचेगा।

13 सितंबर को आयोजित अपने जलसा के दौरान प्रधानमंत्री इमरान खान ने अंतरराष्ट्रीय मुस्लिम समुदाय को कश्मीर के मुद्दे पर उकसाने की कोशिश की। लेकिन वहीं जब उइगर मुसलमानों के मुद्दे पर सवाल पूछे गए तो वे उन्हें टालते दिखे।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का सोशल मीडिया पर एक दावे को लेकर खूब मजाक उड़ाया जा रहा है। इमरान खान के दावे को लेकर खुद पाकिस्तान की जनता भी अपने प्रधानमंत्री का मजाक उड़ा रही है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आखिरकार कबूल किया है कि कई आतंकी संगठन उनकी जमीन पर पैदा हुए और उन्हें ट्रेनिंग दी गई। उन्होंने स्वीकार किया कि उनके मुल्क ने ही आतंकवादियों को प्रशिक्षित किया था, लेकिन वे आतंकवादी नहीं जेहादी थे।

यह भी पढ़ें