Giridih

झारखंड (Jharkhand) के नक्सल प्रभावित इलाके (Naxal Area) के युवा अब सफलता की इबारत लिखने लगे हैं। नक्सलवाद (Naxalism) इनके राह का रोड़ा तो है ही, लेकिन मुश्किल परिस्थितियों से लड़कर ये लगातार आगे बढ़ रहे हैं और अन्य युवाओं के लिए मिसाल कायम कर रहे हैं।

सभा में पुलिस पिकेट (Police Picket) के निर्माण पर विरोध दर्ज कराया गया और कहा गया कि इस इलाके में पुलिस पिकेट की कोई जरूरत नहीं है।

पोस्टर में नक्सलियों ने जल, जंगल, जमीन की रक्षा के लिए भाकपा माओवादी के पीएलजीए दस्ते में शामिल होने की अपील की है।

यहां केवल एक घर के फासले पर मंदिर और मस्जिद मौजूद हैं, लेकिन दोनों ही समुदाय प्रेम से अपने रीति-रिवाजों को पूरा करते हैं।

डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने बुधवार को अभियोजन की स्वीकृति दी और देशद्रोह की धारा में राज्य सरकार से जल्द स्वीकृति आदेश देने की मांग की।

Giridih: डुमरी के कल्हाबार स्थित निर्माणाधीन मॉडल डिग्री कॉलेज में बीते दिनों हुई आगजनी के मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

उस समय नक्सली घटनाएं चरम पर थीं और पुलिस द्वारा नक्सलियों (Naxal) के घर में घुसकर इस प्रकार की कार्रवाई करना खतरे से खाली नहीं था।

बम को सुरक्षित स्थान पर ले जाकर डिफ्यूज कर दिया गया और सर्च अभियान को तेज कर दिया गया। अभी किसी नक्सली (Naxalites) की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

दर्जनभर हथियारबंद नक्सलियों (Naxalites) ने उत्तराखंड के कल्हाबार गांव में सरकार द्वारा बन रहे डिग्री कॉलेज परिसर में जमकर उत्पात मचाया।

यह भी पढ़ें