Dantewada Police

नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसी बीच दंतेवाड़ा में एक इनामी नक्सली समेत 11 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर किया है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। पुलिस द्वारा चलाए जा रहे लोन वर्राटू अभियान (नक्सल अभियान) से नक्सली समर्पण कर रहे हैं।

दंतेवाड़ा में नक्सलियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है, कई बड़े नक्सली मारे जा चुके हैं और बचे हुए नक्सली लगातार सरेंडर कर रहे हैं।

बस्तर पुलिस ने इन समस्याओं से निपटने का एक सही तरीका ढूंढ निकाला है। ऐसा तरीका जिससे नक्सलियों का अर्बन नेटवर्क और कथित समाजसेवी संस्थाओं की ये कोशिशें नाकाम हो जाएंगी।

ये अभियान काफी सफल हुआ है। इससे प्रभावित होकर 100 से ज्यादा नक्सली (Naxalites) सरेंडर कर चुके हैं, इनमें इनामी नक्सली भी शामिल हैं।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में 8 लाख के इनामी नक्सली (Naxal) भल्ला ने सरेंडर कर दिया। वह भैरमगढ़ एरिया कमेटी के प्लाटून नंबर 13 का डिप्टी कमांडर था। भल्ला ने सीआरपीएफ के डीजी और दंतेवाड़ा जिले के एसपी अभिषेक पल्लव के सामने अपनी बहन के जोर देने पर सरेंडर कर दिया।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने पुलिसकर्मी के पिता का अपहरण कर लिया है। दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने जानकारी दी है कि नक्सलियों ने बीती रात पुलिसकर्मी के माता-पिता का गुमियापाल में अपहरण कर लिया है।

नक्सली बामन ने बताया कि उसने सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर आत्मसमर्पण करने का फैसला किया। नक्सली कमांडर बामन बेको ने 4 जून को दंतेवाड़ा जिला मुख्यालय पहुंचकर यहां पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव के सामने हथियार डाल दिया।

छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित जिला दंतेवाड़ा में पुलिस ने एक नक्सल शिविर का पर्दाफाश किया है। जिसमें पुलिस की इस टीम ने इस नक्सल शिविर से 10 आईईडी, तार, नक्सल वाकी-टाकी सेट, दवाएं और बड़े पैमाने पर नक्सल साहित्य बरामद किया है।

यह भी पढ़ें