CRPF Commandant

हजारीबाग के नक्सल प्रभावित इलाके में नक्सली, एक महिला के सिर्फ नाम से ही थर्राते हैं। यह महिला इन इलाकों में नक्सलियों के खिलाफ बेधड़क लोहा लेती हैं और उन्होंने इनका जीना दुश्वार कर रखा है।

सिंह को इस दौरान आतंकियों की ओर से दागी गईं गोलियां और ग्रेनेड के छर्रे भी लगे। पर, वह आतंकियों के सामने मजबूती से डटे रहे और उन्हें मार गिराने तक पीछे नहीं हटे थे।

साथियों को बचाने के लिए सीआरपीएफ के असिस्टेंट कमान्डेंट नागसेप्पम मनोरंजन सिंह ने अपने सीने पर खाई गोलियां।

हिजबुल के आतंकी बुरहान बानी का एनकाउंटर के वक्त हालात बद से बदतर हो गए थे। उस बिगड़ते माहौल से निपटने के लिए जब इस महिला अफसर ने मोर्चा संभाला तो उपद्रवियों के पैर उखड़ गए।