China

अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने चीनी सेना की सालाना रिपोर्ट में इस बात की आशंका जताई है कि चीन (China) वैश्विक सुपर पावर बनने के लिए ऐसा कर रहा है।

Black Top: रणनीतिक नजरिए से देखें, तो ये पहाड़ी काफी महत्वपूर्ण है। इसीलिए इस पहाड़ी पर भारतीय सेना का कब्जा करना बहुत जरूरी था।

India China Dispute: दोनों देशों ने सीमा पर सैनिकों की संख्या को बढ़ा दिया है। ताजा मामला ये है कि भारत और चीन ने अपनी तरफ से टैंकों की तैनाती कर दी है।

चीन (China) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा। बीते 15 जून को हुई झड़प के बाद एक तरफ चीन जहां पर शांति और बातचीत से विवाद सुलझाने की बात करता है तो दूसरी ओर चीनी सेना लद्दाख पर नजरें गड़ाए बैठी है।

चीन (China) और भारत का पहले से ही विवाद चल रहा है और अब 29-30 अगस्‍त की रात को एक बार फिर पूर्वी लद्दाख में चीन और भारत के बीच झड़प हुई है।

इस सैन्य अभ्यास में करीब 18 देशों की सेना हिस्सा लेगी। इन देशों में चीन, पाकिस्तान, सीरिया, रूस (Russia), तुर्की समेत कई मध्य एशियाई देश होंगे।

India China Border Clash: चीनी सैनिक पैंगोंग त्सो झील के पास फिंगर-5 के आसपास हैं और फिंगर 5 से फिंगर 8 तक पांच किलोमीटर से अधिक के इलाकों में ड्रैगन ने बड़ी संख्या में सैनिकों और उपकरणों को तैनात किया है।

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनावी युद्ध (America Election) का बिगुल फूंका जा चुका है। जो बिडेन अमेरिकी चुनावों के दौरान अपने भाषणों में भारत के लिए खासा प्रेम दिखा रहे हैं।

चीन ने कहा है कि दोनों देशों को साथ में आगे बढ़ना चाहिए और एक-दूसरे पर शक नहीं करना चाहिए।

इस बातचीत में उन्होंने कोरोना वायरस (Coronavirus) से फैली वैश्विक महामारी से निपटने के साथ ही हिंद-प्रशांत क्षेत्र समेत अंतरराष्ट्रीय चिंता के मामलों के संबंध में द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय सहयोग को लेकर चर्चा की।

नाथु ला विवाद का केंद्र इसलिए है क्योंकि 1965 के भारत और पाकिस्तान के युद्ध के दौरान चीन ने इस इलाके को खाली करने के लिए बोला था लेकिन भारतीय सेना वहां से पीछे नहीं हटी थी।

पूर्वी चीन के अन्हुई प्रांत में 23 लोग संक्रमित हैं। वहीं जियांग्सू प्रांत में 37 से अधिक लोगों के संक्रमित होने की ख़बर है।

दोनों देशों के बीच तनाव कम करने और सैनिकों के पीछे हटने को लेकर रविवार को कोर कमांडर स्तर की वार्ता हुई थी।

2 अगस्त को भारत और चीन (India-China) के बीच कोर कमांडर स्तर की वार्ता हुई थी।

भारतीय वायु सेना ठंड के मौसम में भी एलएसी की निगरानी करेगी। वहीं भारतीय नौसेना हिन्द महासागर पर तैनात होकर भारतीय सीमाओं की रक्षा करेगी।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने सुरक्षा संबंधी खतरे को देखते हुए अपने देश में भी टिक टॉक पर बैन लगा दिया है। ट्रंप ने कहा, जहां तक टिक टॉक (Tik Tok) का सवाल है, तो हम इसे बैन कर रहे हैं।

वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तैनात सेना (Army) के चार डिवीजन को को वापस नहीं बुलाया जाएगा। सेना के सूत्रों की ओर से यह जानकारी दी गई। जानकारी के अनुसार, पूर्वी लद्दाख में तैनात सेना के चार डिवीजन को अभी वापस नहीं बुलाया जाएगा

यह भी पढ़ें