Bijapur

छत्तीसगढ़ के बीजापुर (Bijapur) जिले में उसूर थाना क्षेत्र के गलगम गांव के करीब सुरक्षाबलों और नक्सलियों (Naxalites) के बीच मुठभेड़ हुई है।

बीजापुर के एसपी कमल लोचन कश्यप ने मुठभेड़ की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि आज सुरक्षाबल सर्च ऑपरेशन पर निकले थे, इसी दौरान नक्सलियों (Naxalites) ने उन पर फायरिंग की।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ जारी अभियान के बावजूद नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला बीजापुर के कुटरू थाना क्षेत्र का है।

नक्सली (Naxalites) देर रात इस युवक को उसके घर से अगवा कर ले गए थे। सोमवार सुबह युवक का शव गांव के चौक पर पड़ा मिला।

नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच स्पेशल डीजी (नक्सल) अशोक जुनेजा (DG Ashok Juneja) बीजापुर के अंदरूनी इलाकों में पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

पुलिस ने दो नक्सली सहयोगियों (Naxalite) को हिरासत में लिया है। गिरफ्तार दोनों आरोपी नक्सली कमांडरों को विस्फोटक पहुंचाने के लिए जा रहे थे।

शहीद SI दीपक भारद्वाज (Deepak Bhardwaj) की पत्नी ने सीएम को पत्र लिखकर शासन से रुपए के बदले डिप्टी कलेक्टर या डीएसपी जैसे सम्मानित पद की मांग की है।

जवानों को फिर सफलता हाथ लगी है। जवानों ने इस बार एक ग्रामीण के घर में घुसकर लूटपाट और मारपीट करने वाले नक्सली (Naxalite) को गिरफ्तार किया है।

आवापल्ली थाना क्षेत्र से गिरफ्तार दोनों नक्सली (Naxalites), बीमार नक्सलियों के लिए भारी मात्रा में दवाइयां ले जा रहे थे। ये सप्लाई टीम के मेंबर हैं।

छतीसगढ़ के बीजापुर जिले में बुधवार को पुलिस ने 2 अलग-अलग थाना क्षेत्रों से कुल 3 माओवादियों (Naxalites) की गिरफ्तारी की है।

नक्सली (Naxalites) संगठन की खोखली विचारधारा, भेदभाव पूर्ण रवैया और प्रताड़ना से तंग आकर नक्सली दंपति ने सरेंडर करने का फैसला किया।

Chhattisgarh: ये सिलगेर और दरभा के ग्रामीणों के नजरिए का ही फर्क है। क्योंकि सिलगेर के ग्रामीण जवानों को अपना दुश्मन मान रहे हैं।

5 करोड़ 30 लाख 17 हजार की लागत से बन रही इस सड़क को बनने में काफी समय चला गया। लेकिन अब सुरक्षाबलों की मौजूदगी में निर्माण कार्य दोबारा शुरू हुआ है।

नक्सलियों ने यहां रेत भरने गई मेटाडोर में आग लगा दी है। हालांकि इस बात की अभी आशंका ही जताई जा रही है, क्योंकि इस तरह के कांड इस इलाके में नक्सली ही करते हैं।

जवान एरिया डोमिनेशन के लिए निकले थे, इसी दौरान वह IED की चपेट में आ गए। नक्सलियों (Naxalites) ने जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए ये IED प्लांट की थी।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalite) के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। बीजापुर और दंतेवाड़ा में रविवार को DRG के जवानों ने 5 नक्सली स्मारक तोड़े हैं।

एसपी कमलोचन कश्यप ने इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि सोमवार को थाना जांगला से जिला बल और केरिपु 222 की ज्वाइंट फोर्स बड़ेतुंगाली गई थी।

यह भी पढ़ें