Bihar Police

जांच में इन तीनों नक्सलियों ने कुछ भी बड़ा खुलासा नहीं किया, लेकिन इनके पास से जब्त भारी तादात में हथियार कुछ और ही कहानी बयां कर रहे हैं, ऐसे में अब एनआईए को इस जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बिहार में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है, फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला ये है

ब्रह्मदेव राणा पर CRPF के काफिले पर हमला करने का आरोप है। इसके बाद से ही ये नक्सली फरार चल रहा था। बता दें कि जमुई के बरहट थाना में नक्सली के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज है।

जमुई में सुरक्षाबलों को इस बार बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने जमुई के बरहट जंगल से हार्डकोर नक्सली बिजली राय (Naxalite Bijli Rai) को गिरफ्तार किया है।

थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार (Ashwini Kumar) की शहादत की खबर जब उनके घर पहुंची तो उनकी मां उर्मिला देवी ये सदमा बर्दाश्त नहीं कर सकीं और उनकी मौत हो गई।

बिहार (Bihar) के लखीसराय जिले में नक्सलियों (Naxls) ने कायराना हरकत की है। जिले के किऊल थाना की स्थापना के बाद से पहली बार इलाके में नक्सलियों (Naxalites) ने पर्चे फेंक कर दहशत फैलान की कोशिश की है।

ढिबरा थाना क्षेत्र में पुलिस को 11 मार्च को नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ कामयाबी हाथ लगी। इलाके के झरना जंगल में नक्सलियों के खिलाफ छापामारी अभियान में एक देसी राइफल, चार कारतूस एवं एक खोखा बरामद हुआ।

बिहार में पुलिस की कार्रवाइयों के बावजूद नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। वह अपनी गतिविधियों को तेज कर रहे हैं।

बिहार के सीतामढ़ी जिले में पुलिस की शराब माफिया के साथ मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में एक असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की मौत हो गई है। इस दौरान पुलिस का एक जवान भी घायल हुआ है।

बिहार में नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई हो रही है। ताजा मामला ये है कि स्पेशल पुलिस टीम ने 2 हार्डकोर नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।

एसपी ने बताया कि मिली सूचना के बाद STF और लोकल पुलिस ने जंगलों में छापेमारी की लेकिन पुलिस की भनक पाकर नक्सली अपने गांव भाग गए।

Bihar Election: बिहार विधानसभा चुनावों को देखते हुए नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। ताजा मामला अमगढ़वा गांव का है।

अधिकारियों के मुताबिक, हार्डकोर नक्सली रंजीत कोड़ा को लेकर लगातार इनफॉरमेशन इकट्ठा की जा रही थी।

सोमवार को आधी रात में करीब 50-60 नक्सली गांव में आए और लेबी की मांग करते हुए मुखिया गणेश रजक, रवीन्द्र रजक को किडनैप कर लिया।

आशंका जताई जा रही है कि नक्सली संगठन द्वारा जंगल में ही 31 जुलाई तक शहादत दिवस मनाया जा रहा है। सभी संदिग्ध नक्सली दस्ता के सदस्य हो सकते हैं।

बिहार में नक्सलवाद पर लगातार किए जा रहे प्रहार के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। अपनी हिलती हुई जड़ों को बचाने के लिए नक्सली नए-नए पैंतरे अपना रहे हैं।

बिहार के जमुई (Jamui) की जिला पुलिस और सुरक्षाबलों ने झाझा इलाके से एक नक्सली कमांडर को गिरफ्तार किया। उसे गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए धर दबोचा गया।

यह भी पढ़ें