Baramulla

ये मुठभेड़ सलोसा इलाके में हुई है। इसमें 176 बीएन, सीआरपीएफ, एसओजी क्रीरी, 52आरआर की संयुक्त टीम आतंकियों (Terrorists) को मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने दोनों जवानों की शहादत पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि देश उनके बलिदान को हमेशा याद रखेगा।

Kashmir: प्रशांत ने 23 सितंबर 2014 को भारतीय सेना ज्वाइन की थी। इस दौरान उनकी उम्र महज 18 साल थी। वे 29 आरआर के जवान थे।

क्रिरी क्षेत्र में आतंकियों ने CRPF और जम्मू कश्मीर पुलिस की ज्वाइंट नाका पार्टी पर हमला कर दिया, जिसमें 3 जवान शहीद हो गए।

अफ़ज़ल बारामुला डिग्री कॉलेज में बीए फर्स्ट ईयर का छात्र था। कई बार दोस्तों के साथ पत्थरबाज़ी में शरीक होता था। मज़ा आता था उसको दोस्तों के साथ नारे लगाने में और पत्थर फेंकने में। पर ये सब करने की वजह शायद उसको खुद मालूम नहीं थी।

अफ़ज़ल बारामुला डिग्री कॉलेज में बीए फर्स्ट ईयर का छात्र था। कई बार दोस्तों के साथ पत्थरबाज़ी में शरीक होता था। मज़ा आता था उसको दोस्तों के साथ नारे लगाने में और पत्थर फेंकने में। पर ये सब करने की वजह शायद उसको खुद मालूम नहीं थी।

ये हमला बारामूला जिले के सोपोर के ह्यगाम इलाके में हुआ। मिली जानकारी के मुताबिक आतंकियों ने सेना, CRPF और पुलिस की ज्वाइंट टीम पर कई राउंड फायर किए।

मेजर भूपेंद्र की एक साल पहले ही उस इलाक़े में पोस्टिंग हुई थी। राष्ट्रीय राइफल्स में अल्फा कंपनी कमांडर। उनकी कंपनी बारामुला और हंडवारा के बीच एक छोटे से गांव तरागपोरा में पिछले कई सालों से तैनात थी।

मेजर भूपेंद्र की एक साल पहले ही उस इलाक़े में पोस्टिंग हुई थी। राष्ट्रीय राइफल्स में अल्फा कंपनी कमांडर। उनकी कंपनी बारामुला और हंडवारा के बीच एक छोटे से गांव तरागपोरा में पिछले कई सालों से तैनात थी।

रक्षा प्रवक्ता के मुताबिक, पाकिस्तानी सैनिकों ने पूवार्ह्न करीब 11.00 बजे नियंत्रण रेखा पर छोटे हथियारों से गोलीबारी की और मोटार्र से गोले दागे। जवाबी कार्रवाई में भारतीय सैनिकों ने भी गोलियां चलायीं। मेंढर सेक्टर में दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी में भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया।

यह भी पढ़ें