Aurangabad

इनमें से कई बच्चे ऐसे हैं, जिन्होंने अपनी पीढ़ियों में पहली बार मैट्रिक की परीक्षा पास की है। ये बच्चे साइबर कैफे की सहायता से आगे की पढ़ाई की व्यवस्था कर रहे हैं।

अभाव भऱी जिंदगी होने के बावजूद गरीब परिवार के ये बच्चे बेहतर खिलाड़ी के रूप में निखर रहे हैं। नक्सल प्रभावित क्षेत्र के इस गांव के बच्चे मलखंब जैसे साहसिक खेल में महारत हासिल कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें