Army Chief

भारतीय सेना (Indian Army) में अधिग्रहण की औसत लागत कम है जो एमएसएमई और स्टार्ट-अप की व्यापक हिस्सेदारी की अनुमति देती है।

लेफ्टिनेंट जनरल अय्यर ने कठिन और चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में काम करते हुए कर्तव्य के प्रति समर्पण और अदम्य भावना के लिए पैदल सेना के सभी अधिकारियों और जवानों की सराहना की।

हेवी व्हीकल्स फैक्ट्री को मिले इस आर्डर से ‘एमएसएमई’ सहित 200 से अधिक भारतीय कंपनियों के लिए रक्षा निर्माण में एक बड़ा अवसर खुलेगा और करीब 8,000 लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में कारगिल युद्ध (Kargil War 1999) लड़ा गया था। इस युद्ध में पाकिस्तान को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा था।

आर्मी चीफ (Army Chief) जनरल एम एम नरवणे (General MM Naravane) ने कहा है कि ड्रोन की आसान उपलब्धता ने सुरक्षा चुनौतियों की जटिलताओं को बढ़ा दिया है।

बांग्लादेश को अपना नया सेना प्रमुख मिल गया है। लेफ्टिनेंट जनरल एसएम शफीउद्दीन अहमद को गुरुवार को बांग्लादेश की सेना का अगला प्रमुख नामित किया गया है।

भारत-पाकिस्तान के बीच एलओसी (LoC) पर सीजफायर (Ceasefire) का आज 100वां दिन है। इस मौके पर सेना प्रमुख (Army Chief) जनरल एमएम नरवणे (General MM Naravane) 2 जून को दो दिवसीय जम्मू-कश्मीर दौरे पर पहुंचे। सेना प्रमुख ने एलओसी की फार्वर्ड लोकेशन का दौरा किया।

सेना (Indian Army) के डॉक्टर भी इस महामारी से लड़ने में लगे हुए हैं। 2014 में जब घाटी में पहली बार बाढ़ आई थी तब भी सेना ने बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला था और उन्हें खाद्य सामग्री आदि की भी मदद की थी।

भारतीय सेना के अतिरिक्त लोक सूचना महानिदेशालय (एडीजी पीआई) ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। उनके मुताबिक‚ जनरल एम एम नरवणे (MM Naravane) ने 10 इन्फैन्ट्री डिवीजन का दौरा किया और बांग्लादेश की सेना के अधिकारियों से बातचीत की।

भारतीय सेना प्रमुख (Indian Army Chief) जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General MM Naravane) 8 अप्रैल को 5 दिवसीय दौरे पर बांग्लादेश (Bangladesh) पहुंचे।

जनरल नरवणे डीएसएससी कॉलेज के दो दिवसीय दौरे पर हैं। जहां उन्होंने कॉलेज में 76वें स्टॉफ पाठ्यक्रम में शामिल अधिकारियों और संकाय सदस्यों को व्याख्यान दिया।

कोडंडेरा मडप्पा करिअप्पा इंडियन आर्मी (Indian Army) के पहले भारतीय अध्यक्ष  थे। वे केएम करिअप्पा (K M Cariappa) के नाम से विख्यात थे। आजादी के बाद भारतीय सेना का भारतीयकरण करने का श्रेय करिअप्पा को ही दिया जाता है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने LAC के मसले पर जानकारी देते हुए 11 फरवरी को संसद में कहा कि बातचीत के दौरान भारत ने चीन के साथ सीमा विवाद को सुलझाने के लिए तीन सिद्धांतों को सुझाया है।

घरेलू रक्षा उत्पादन को बढ़ावा देने की दिशा में निजी उद्योगों को सरकार की सुधार पहल का फायदा उठाने के लिए प्रोत्साहित करते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि सेना भी इसका पूरा समर्थन कर रही है।

आर्मी चीफ (Army Chief) जनरल एम एम नरवणे (General M M Naravane) ने पाकिस्‍तान (Pakistan) और चीन (China) को एक साथ खतरा बताते हुए कहा कि यह ऐसी हकीकत है जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता।

भारत और चीन के बीच तनाव जारी है। इस बीच बुधवार को सेना प्रमुख एम.एम.नरवणे लेह पहुंचे। यहां उन्होंने सेना अधिकारियों से मुलाकात की।

सेना प्रमुख (MM Naravane) ने रेचिन ला इलाके में जवानों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने स्थानीय तैयारियों की तारीफ की।

यह भी पढ़ें