Afghanistan

अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के साथ ही तालिबान अफगान सुरक्षाबलों पर भारी पड़ रहे हैं। कंधार के अपने पूर्व गढ़ के साथ ही तालिबान ने एक तिहाई जिलों पर कब्जा करने का दावा किया है। 

अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) की हिंसा बढ़ती जा रही है। इस बीच अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के लिए काम करने वाले एक अफगान दुभाषिए सोहेल पारदीस का तालिबान ने सिर कलम कर दिया है।

पाकिस्तान में अफगान राजदूत नजीबुल्लाह अलीखील की 26 वर्षीय बेटी सिलसिला अलीखील का 17 जुलाई को इस्लामाबाद स्थित उनके घर लौटते समय अगवा कर लिया गया।

अफगानिस्तान (Afghanistan) सरकार ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तान ने तालिबान आतंकवादी समूह के लिए समर्थन बढ़ा दिया है।

अफगानिस्तान (Afghanistan) में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दिकी (Danish Siddiqui) की हत्या हो गई है। कंधार में 15 जुलाई को भारतीय फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की कवरेज के दौरान हत्या कर दी गई।

तालिबान (Taliban) ने अफगानिस्तान (Afghanistan) पर कहर बरपाना शुरू कर दिया है। अफगानिस्तान के कई महत्वपूर्ण इलाकों पर कब्जा करने के बाद तालिबान ने वहां अपनी क्रूरता शुरू कर दी है।

अमेरिकी सेनाओं की वापसी के बाद से अफगानिस्‍तान (Afghanistan) में हालात बदतर होते जा रहे हैं। वहां तालिबान (Taliban) के अमानवीय और क्रूर शासन का खतरा मंडराने लगा है।

अफगानिस्‍तान (Afghanistan) से अमेरिकी सेनाओं के जाने के बाद से यहां के हालात बदतर होते जा रहे हैं। तालिबान ने कई इलाकों को अपने नियंत्रण में ले लिया है। तालिबानी हमला तेज होता जा रहा है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक, अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों में पिछले 24 घंटों के दौरान 300 से ज्यादा तालिबानी आतंकी मारे गए हैं।

अमेरिकी सैनिकों (US Army) की अफगान से वापसी ने चीन की भी टेंशन बढ़ा दी है। उसे डर है कि इसके बाद अफगानिस्तान में फिर से आतंकवाद भड़क सकता है जिसका असर उसकी बीआरआई (BRI) परियोजना पर पड़ सकता है।

अफगानिस्तान (Afghanistan) में शांति प्रक्रिया से जुड़ी वार्ता में तालिबान, रूस, अमेरिका, ईरान, चीन और पाकिस्तान शामिल थे, लेकिन भारत को इससे दूर रखा गया।

सुरक्षा परिषद के अनुसार, ये जघन्य हमले प्रशासनिक व न्यायिक सेवा, मीडिया, स्वास्थ्य सेवा में कार्यरत लोगों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को निशाना बनाकर किए जा रहे हैं।

पाकिस्तान (Pakistan) दुनिया भर में आतंक फैलाता है, ये सबको मालूम है। भारत के खिलाफ तो आतंकवाद (Terrorism) ही उसका सबसे बड़ा हथियार है। अब पाकिस्तान, अफगानिस्तान (Afghanistan) को तालिबानी आतंकियों के हाथों में सौंप देना चाहता है।

भारत (India) और अफगानिस्‍तान (Afghanistan) अपने रिश्‍तों को 'शहतूत डैम' (Shahtoot Dam) के जरिए और मजबूत बना रहे हैं। इस अहम प्रोजेक्‍ट पर समझौते के संबंध में दोनों देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्षों ने भारत-अफगानिस्‍तान सम्‍मेलन में बातचीत की है।

अफगानिस्तान (Afghanistan) के कंधार (Kandahar) प्रांत में अफगानी सेना की ओर से की गई एक बड़ी कार्रवाई में 15 तालिबान आतंकवादी (Taliban Terrorists) मारे गए। साथ ही तीन अन्य घायल हो गए।

अफगानिस्तान (Afghanistan) में अलग-अलग जगहों पर हुए आतंकी हमलों (Terrorist Attack) में 6 जवानों समेत कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई है।

पाकिस्तान (Pakistan) के बाद अब उसका करीबी दोस्त चीन (China) भी दुनियाभर में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की फिराक में है। दरअसल, अफगानिस्तान (Afghanistan) की राजधानी काबुल (Kabul) से 10 चीनी जासूस गिरफ्तार हुए हैं।

यह भी पढ़ें