ज़िंदगी की तलाश में इनामी नक्सली सोनमती ने किया सरेंडर

Sonmati

एक ओर जहां नक्सली अपनी कायराना हरकतों को अंजाम देने की फ़िराक़ में रहते हैं तो दूसरी ओर नक्सलियों के आत्मसमर्पण का सिलसिला भी जारी है। आंध्र प्रदेश और ओडिशा से सटे छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर के भैरमगढ़ के ताकीलोड की रहने वाली एक लाख रुपए की इनामी नक्सली सोनमती कर्मा (Sonmati) अचानक कोंडागांव पुलिस के सामने पहुंची और उसने आत्मसमर्पण कर दिया। सोनमती (Sonmati) ने समाज के मुख्यधारा में शामिल होने की इच्छा जताई।

सोनमती एक प्रशिक्षित नक्सली है। उस पर एक लाख का इनाम भी घोषित था। वह साल 2016 में नक्सली संगठन से जुड़ी। कम्पनी नम्बर 6 और एरिया कमिटी में प्रशिक्षण लेकर बारसूर एरिया कमिटी में शामिल हुई थी। महज तीन साल में ही उसे वहां की असलियत का पता चल गया। उसे समझ आ गया कि नक्सली संगठन में अंधेरे के सिवा कुछ भी नहीं है। वहां कोई भविष्य नहीं है।

पुलिस के अनुसार नक्सली संगठन में रहते हुए वह कई बार नक्सलियों द्वारा पुलिस पार्टी पर किए गए हमलों में भी शामिल रही। सरेंडर करने से पहले वह बारसूर एलजीएस में रहकर कुदूर जनमिलिशिया इलाके में सक्रिय थी।

यह भी पढ़ेंः नक्सलियों की करतूत बन चुकी है मासूमों के लिए आफत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here