नक्सलियों का ‘शहीदी सप्ताह’ पड़ा फीका, पहले ही दिन 14 नक्सलियों ने किया सरेंडर

छत्तीसगढ़ में नक्सली शहीदी सप्ताह मना रहे हैं। इस मौके पर उन्होंने बंद भी बुलाया है। पर बंद के पहले ही दिन सुकमा में नक्सलियों को बड़ा झटका लगा। सुकमा में 14 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

सुकमा, नक्सल सरेंडर, छत्तीसगढ़, शहीदी सप्ताह, 14 नक्सलियों ने किया सरेंडर

सुकमा में 14 नक्सलियों ने किया सरेंडर।

छत्तीसगढ़ में नक्सली शहीदी सप्ताह मना रहे हैं। इस मौके पर उन्होंने बंद भी बुलाया है। पर बंद के पहले ही दिन (28 जुलाई, 2019) सुकमा में नक्सलियों को बड़ा झटका लगा। सुकमा में 14 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। सरेंडर करने वालों में 6 स्थायी वारंटी भी शामिल हैं। इन नक्सलियों ने सुकमा के थाना फुलपगड़ी में सरेंडर किया। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, सरेंडर करने वाले सभी नक्सली कई सालों से नक्सल संगठन में शामिल थे। अब सरेंडर के बाद इन्हें शासन की योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।

दरअसल, शनिवार को ही नक्सल ऑपरेशन के डीआईजी सुंदरराज पी ने बताया था कि छत्तीसगढ़ में नक्सली अपने साथियों की मौत को लेकर शहीदी सप्ताह मानने की तैयारी में हैं। हर साल की तरह इस साल भी नक्सली अपने साथियों को श्रृद्धांजलि देने के लिए 28 जुलाई से 3 अगस्त तक जुटेंगे। लेकिन पहले ही दिन इतनी बड़ी संख्या में नक्सलियों के सरेंडर करने से उनके मंसूबों को तगड़ी चोट पहुंची है।

अगर आंकड़ों की बात करें तो पिछले पांच सालों में सुरक्षाबलों ने 757 नक्सलियों को मार गिराया है। और इस बार नक्सलियों के शहीदी सप्ताह के दौरान सुरक्षा बल के जवान पूरी तरह से तैनात रहने की नई रणनीति बनाई। नक्सलियों के इस शहीदी सप्ताह पर सुरक्षा बलों की कड़ी नजर बनी हुई है। बता दें कि नक्सली शहीदी सप्ताह के दौरान गांव-गांव में अपने मारे गए साथियों के बारे में गांववालों को पूरी कहानी बताते हैं। इसलिए इस बार सुरक्षा बलों के जवानों नक्सलियों के इस तरह के अभियान को मुंहतोड़ जवाब देने की पूरी तैयारी है।

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में अनोखा स्कूल, पुराने ‘खूंखार नक्सली’ हैं यहां स्टूडेंट

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App