सीनियर अधिकारी पीआर जांभोलकर बोले- बैकफुट पर है नक्सलवाद, सरकार की नीतियों से मिला फायदा

जांभोलकर का कहना है कि केंद्र और राज्य सरकारों की नीतियों की वजह से नक्सलवाद कम है सरकारें सरेंडर नीति को बढ़ावा दे रही हैं।

Naxalite

सांकेतिक फोटो

नागपुर: नक्सलवाद के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इस बीच CRPF की कोबरा बटालियन के 4 साल तक उपमहानिरीक्षक रहे पीआर जांभोलकर का कहना है कि नक्सलवाद (Naxalites) अब बैकफुट पर आ गया है।

जांभोलकर का कहना है कि केंद्र और राज्य सरकारों की नीतियों की वजह से ऐसा हो रहा है। सरकारें सरेंडर नीति को बढ़ावा दे रही हैं और लोगों को मुख्यधारा से जोड़ने की कोशिश कर रही हैं।

ये भी पढ़ें- DRDO ने किया नाग एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण, दुश्मन के टैंक एक पल में कर सकती है तबाह

जांभोलकर ने कहा कि अब नक्सल (Naxalites) प्रभावित इलाकों की जनता ये जान चुकी है कि नक्सली केवल उनका इस्तेमाल करते हैं। सुरक्षाबलों के सकारात्मत रवैये की वजह से जनता की आंखें खुली हैं और नक्सलियों के प्रति उनके नजरिए में बदलाव आया है।

जांभोलकर ने कहा कि देश छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा, सुकमा और बीजापुर में फैले नक्सलवाद पर भी काफी फर्क पड़ा है और सुरक्षाबल यहां नक्सलियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रहे हैं।

उन्होंने ये भी कहा कि भोले भाले ग्रामीण विकास चाहते हैं, इसलिए अब वह नक्सलियों के बहकावे में नहीं आते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें