स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराने वाले 30 ग्रामीणों को घर से उठा ले गए नक्सली, जंगल ले जाकर पीटा

बुधवार रात कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल गांव के करीब 30 ग्रामीणों को नक्सली (Naxalites) जंगल ले गए थे और इसके बाद उनकी लाठी और लात-घूसों से पिटाई की गई।

CRPF

सांकेतिक तस्वीर।

घायल ग्रामीणों का जिला हॉस्पिटल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज चल रहा है। ग्रामीणों में नक्सलियों (Naxalites) की दहशत इस कदर समा गई है कि वो कुछ भी बताने से इनकार कर रहे हैं।

दंतेवाड़ा: स्वतंत्रता दिवस पर गांववालों के तिरंगा फहराने की वजह से नक्सली (Naxalites) बौखलाए हुए हैं। अपनी इसी बौखलाहट में नक्सलियों ने 30 ग्रामीणों के साथ मार-पीट की है।

बुधवार रात कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल गांव के करीब 30 ग्रामीणों को नक्सली (Naxalites) जंगल ले गए थे और इसके बाद उनकी लाठी और लात-घूसों से पिटाई की गई।

घायल ग्रामीणों का जिला हॉस्पिटल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज चल रहा है। ग्रामीणों में नक्सलियों की दहशत इस कदर समा गई है कि वो कुछ भी बताने से इनकार कर रहे हैं।

सूत्रों का कहना है कि नक्सली नेता माहंगु, मंगतू, डोले, सुखराम, पदामी, मड्डा आदि ने ग्रामीणों की पिटाई की है।

बता दें कि स्वतंत्रता दिवस के मौके पर चिकपाल-मारजूम इलाके में 18 जगहों पर तिरंगा फहराया गया था। पुलिस और प्रशासन की निगरानी में ध्वजारोहण किया गया था।

ये भी पढ़ें- चीन की नई चालबाजी, लिपुलेख में मिसाइल तैनाती के लिए बना रहा साइट

नक्सली इसी बात से बौखलाए हुए हैं क्योंकि सुरक्षाबलों की सतर्कता की वजह से वह उस दिन तो कुछ न कर सके लेकिन अब ग्रामीणों की पिटाई करके अपनी बौखलाहट निकाल रहे हैं।

दरअसल ये नक्सली बुधवार रात को चिकपाल गांव के कई क्षेत्रों में गए थे और 30 ग्रामीणों को उनके घर से उठाकर जंगल ले गए। इसके बाद ग्रामीणों की पिटाई की गई।

अब पुलिस के पूछने पर भी ग्रामीण मुंह नहीं खोल रहे हैं, वह डरे हुए हैं। उनके शरीर पर चोटों के निशान हैं।

दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया है कि इलाके के विकास कार्यों और अपना जनाधार खोने से नक्सली बौखलाए हुए हैं, इसलिए इस तरह की हरकत कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें