छत्तीसगढ़ पुलिस को बड़ी सफलता, 10 नक्सलियों ने एक साथ किया सरेंडर

नक्सल संगठन द्वारा शोषण से तंग आकर दो महिला नक्सलियों समेत 10 नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्समर्पण करने वाले नक्सली अपने संगठन के नेताओं के शोषण एवं प्रताड़ना से तंग आ चुके थे। इसलिए आत्मसमर्पण करने का फैसला लिया। ये सभी नक्सली सुकमा जिले के कोंटा थाना में बालेंगतोंग गांव के रहने वाले थे।

chhattisgarh

Chhattisgarh: नक्सल संगठनों के शोषण से तंग आकर दो महिला नक्सलियों समेत 10 नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्समर्पण करने वाले नक्सली अपने संगठन के नेताओं के शोषण एवं प्रताड़ना से तंग आ चुके थे, इसलिए आत्मसमर्पण करने का फैसला लिया। ये सभी नक्सली सुकमा जिले के बालेंगतोंग गांव के रहने वाले हैं।

इन लोगों ने राज्य पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के अधिकारियों के सामने आत्मसमर्पण किया। आत्समर्पण करने वाले नक्सली दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संगठन से जुड़े हैं। इनमें से सभी के खिलाफ बेहद संगीन आरोप भी हैं। इन सभी के खिलाफ बस और अन्य वाहनों में आगजनी करने और बम लगाने जैसे कई गंभीर मामलों में शामिल होने का आरोप है।

दरअसल, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षाबलों के पहरे एवं राज्य द्वारा चल रही आत्मसमर्पण के लिए बेहतरीन योजनाओं के चलते नक्सली हिंसा छोड़ मुख्यधारा में शामिल हो रहे हैं। आत्मसमर्पण करने वाले सभी पूर्व नक्सलियों को सरकार आर्थिक मदद भी मुहैया कराती है, जिससे वे अपना जीवन-यापन कर सकें। साथ ही रोजगार के लिए उन्हें प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

इसे भी पढ़ें: बिहार के गया में नक्सलियों ने भाजपा नेता के घर को डायनामाइट से उड़ाया

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App