प्रेमिका के घर शादी की बात करने जा रहे युवक की नक्सलियों ने हत्या की, ये है वजह

अशोक किरंदुल में अपने माता-पिता के साथ रहकर जिंदगी की जिम्मेदारियों को उठा रहा था। इस बीच नक्सलियों (Naxalites) ने उसकी हत्या कर दी।

PLFI

सांकेतिक तस्वीर।

बस्तर में नक्सलियों (Naxalites) ने भारी संख्या में माओवाद का साथ छोड़ा है। कई नक्सलियों ने प्रेम करने के बाद शादी की और अपना घर बसाने की खातिर नक्सली संगठनों का साथ छोड़ दिया।

कहते हैं कि प्यार इंसान को बदल देता है और प्यार के लिए इंसान बड़े से बड़ा त्याग करता है। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में 20 साल के अशोक कुंजाम और उसके रिश्तेदार बंडा की गुरुवार को हुई हत्या में एक नया मोड़ सामने आया है।

अशोक किरंदुल में अपने माता-पिता के साथ रहकर जिंदगी की जिम्मेदारियों को उठा रहा था। इस बीच उसकी जिंदगी में एक लड़की ने दस्तक दी और वह उसे प्यार करने लगा।

इसके बाद वह उस लड़की के परिवार से बात करने के लिए 3 दिन पहले बीजापुर गया। इस दौरान उसका परिवार भी उसके साथ था। लेकिन रास्ते में नक्सलियों (Naxalites) ने उसे और उसके रिश्तेदार बंडा को मार डाला। नक्सलियों ने पुलिस का मुखबिर होने के शक में उसकी हत्या कर दी और शव को हिरोली-डोकापारा के जंगलों में फेंक दिया। अशोक ने हाईस्कूल तक पढ़ाई की थी।

ये भी पढ़ें- कोरोना का कहर: भारत में 13 दिनों में 10 लाख कोरोना संक्रमित, ब्राजील को पछाड़कर अमेरिका के करीब पहुंचा भारत

बता दें कि अब तक अपने प्यार को बचाए रखने के लिए कम से कम 200 नक्सली मुख्यधारा में वापस लौटकर आए हैं, लेकिन इस बीच नक्सलियों द्वारा की गई अशोक की हत्या ने एक प्रेम कहानी को शुरू होने से पहले ही खत्म कर दिया।

गौरतलब है कि बस्तर में नक्सलियों ने भारी संख्या में माओवाद का साथ छोड़ा है। कई नक्सलियों ने प्रेम के बाद शादी की और अपना घर बसाने की खातिर नक्सली संगठनों का साथ छोड़ दिया।

बता दें कि नक्सली संगठन शादी करने की इजाजत नहीं देते हैं। इसलिए प्यार और शादी की खातिर अक्सर नक्सली माओवाद का साथ छोड़कर मुख्यधारा में वापस आए हैं।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें