Jharkhand: 2 लाख का इनामी नक्सली कमांडर गिरफ्तार, बीते साल लगी थी पुलिस की गोली

एसपी के मुताबिक नक्सली के पास से एक पिस्टल (लोडेड), एके-47 के ग्यारह कारतूस और संगठन की रसीद वगैरह बरामद हुई है।

Hardcore Naxalites

सांकेतिक तस्वीर।

झारखंड सरकार ने दीत नाग पर 2 लाख रुपए का इनाम रखा था। 2019 में पुलिस से मुठभेड़ के दौरान दीत नाग को गोली लगी थी लेकिन जंगल की जानकारी होने की वजह से वह भागने में कामयाब रहा था लेकिन इस बार पुलिस ने उसको धर दबोचा।

झारखंड के खूंटी जिले से नक्सली संगठन भाकपा-माओवादी के 2 लाख के इनामी एरिया कमांडर दीत नाग को गिरफ्तार किया गया है। दीत नाग के खिलाफ हत्या, फिरौती जैसे 20 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। ये जानकारी एसपी आशुतोष शेखर ने दी।

एसपी शेखर ने बताया कि पुलिस को अड़की थाना क्षेत्र के रायतोडांग जंगल में नक्सलियों (Naxal) के जमावड़े की जानकारी मिली थी, जिसके बाद छापेमारी की गई और एरिया कमांडर दीत नाग को गिरफ्तार कर लिया गया।

एसपी के मुताबिक नक्सली के पास से एक पिस्टल (लोडेड), एके-47 के ग्यारह कारतूस और संगठन की रसीद वगैरह बरामद हुई है।

झारखंड सरकार ने दीत नाग पर 2 लाख रुपए का इनाम रखा था। 2019 में पुलिस से मुठभेड़ के दौरान दीत नाग को गोली लगी थी लेकिन जंगल की जानकारी होने की वजह से वह भागने में कामयाब रहा था लेकिन इस बार पुलिस ने उसको धर दबोचा।

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान रच रहा बड़े हमले की साजिश, बॉर्डर से लेकर घाटी तक हाई अलर्ट पर सुरक्षाबल

वहीं छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में भी 8 लाख के इनामी नक्सली भल्ला ने सरेंडर कर दिया। वह भैरमगड एरिया कमेटी के प्लाटून नंबर 13 का डिप्टी कमांडर था। भल्ला ने सीआरपीएफ के डीजी और दंतेवाड़ा जिले के एसपी अभिषेक पल्लव के सामने अपनी बहन के जोर देने पर सरेंडर किया है।

दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि भैरमगड एरिया कमेटी में बीते 10 सालों में जितनी भी बड़ी घटनाएं हुई हैं, उसमें भल्ला शामिल था। भल्ला के समर्पण से दंतेवाड़ा जिले के बैलाडीला क्षेत्र में हो रही नक्सलियों की गतिविधि की पुख्ता सूचना मिल सकेगी और एनएमडीसी प्लान पर होने वाले नक्सली हमलों में कमी आएगी।

ये भी देखें- 

यह भी पढ़ें