झारखंड: चाईबासा में सुरक्षाबलों और उग्रवादियों के बीच मुठभेड़, AK-47 और विस्फोटक बरामद

झारखंड (Jharkhand) के नक्सल प्रभावित जिले चाईबासा में गुदड़ी के जंगल में शनिवार सुबह पीएलएफआई उग्रवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई।

Jharkhand Encounter

सुरक्षाबलों और उग्रवादियों के बीच मुठभेड़

झारखंड (Jharkhand) में सूचना के आधार पर जिला पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने सर्च अभियान चलाया। इसी दौरान उग्रवादियों ने सुरक्षाबलों को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद जवाबी कार्रवाई में कई राउंड फायरिंग शुरू हुई।

झारखंड (Jharkhand) के नक्सल प्रभावित जिले चाईबासा में गुदड़ी के जंगल में शनिवार सुबह पीएलएफआई उग्रवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ के दौरान कई राउंड फायरिंग हुई। जब उग्रवादियों ने देखा कि सुरक्षाबल उन पर भारी पड़ रहे हैं तो ये उग्रवादी भाग खड़े हुए।

इस दौरान सुरक्षाबलों ने गहन सर्च अभियान चलाया। इसमें पीएलएफआई के एक बंकर में रखी एके-47 सहित विस्फोटक और हथियार बरामद किए गए। उग्रवादियों को चारों तरफ से घेरते हुए जंगल में सुरक्षाबलों के साथ-साथ जिला पुलिस बल ने भी अभियान को तेज कर दिया है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, पुलिस अधिकारियों को यह गुप्त सूचना मिली थी कि नक्सल प्रभावित गुदड़ी के पहाड़ी स्थित जंगल में पीएलएफआई के उग्रवादी कोई बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं और इसी इरादे को लेकर वहां इकट्ठा हुए हैं।

सूचना के आधार पर जिला पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने सर्च अभियान चलाया। इसी दौरान उग्रवादियों ने सुरक्षाबलों को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद जवाबी कार्रवाई में कई राउंड फायरिंग शुरू हुई।

बताया जाता है कि पीएलएफआई और सुरक्षाबलों के बीच घंटों गोलीबारी हुई। हालांकि अभी तक किसी उग्रवादी के मारे जाने की पुष्टि नहीं हुई है।

बता दें कि गुदड़ी के जंगल में पीएलएफआई के कमांडर जीदन गुड़िया का दस्ता पहले से मौजूद था। इसी दस्ते के साथ मुठभेड़ होने की सूचना है। हालांकि इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि अभी तक नहीं हुई है।

ये भी पढ़ेंसुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने की साजिश नाकाम, सर्च ऑपरेशन में मिले 25 डेटोनेटर और तार

बता दें कि जीदन के खिलाफ हत्या, रंगदारी और पुलिस पर हमला करने जैसे सैकड़ों मामले दर्ज हैं। उसकी तलाश लंबे समय से पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई थी। वह काफी समय से पुलिस को चकमा दे रहा था।

सूत्रों के मुताबिक, इस बार सुरक्षाबलों ने गुदड़ी जंगल को चारों तरफ से घेर लिया है और इन उग्रवादियों को किसी भी हालात में पकड़ने की कोशिश जारी है। जानकारों का कहना है कि इन उग्रवादियों के पास विदेशी हथियार भी हैं जो बहुत ही आधुनिक हैं।

झारखंड (Jharkhand) के डीजीपी ने चाईबासा पुलिस अधीक्षक को यह निर्देश दिया है कि क्षेत्र से उग्रवादियों का सफाया जल्द से जल्द किया जाए , जिससे इस क्षेत्र में विकास किया जा सके।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें