झारखंड: बूढ़ा पहाड़ के खूंखार नक्सली चंद्रभूषण यादव का सरेंडर! कई और नक्सलियों के आत्मसमर्पण की खबर

नक्सलियों पर नकेल कसने की झारखंड पुलिस की मुहिम काफी रंग ला रही है। खबर है कि लातेहार जिले के खूंखार नक्सली कमांडर चंद्रभूषण यादव उर्फ भूषण यादव ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। हालांकि अभी इस माओवादी के सरेंडर को लेकर आधिकारिक रूप से घोषणा नहीं की गई है। चंद्रभूषण यादव जिले से सटे बूढ़ा पहाड़ में काफी सक्रिय रहा है। झारखंड पुलिस के वरीय पुलिस अधिकारियों ने ऑफ द रिकॉर्ड इस नक्सली के आत्मसमर्पण की जानकारी दी है।

jharkhand, latehar, naxali, jharkhand naxali, naxali surrender, chandra bhusan yadav
हार्डकोर नक्सली चंद्रभूषण यादव ने किया सरेंडर।

नक्सली कमांडर भूषण पर राज्य सरकार ने 10 लाख रूपए का इनाम रखा है। सूत्रों के मुताबिक भूषण यादव एक सप्ताह पहले माओवादी दस्ते को छोड़ कर भाग गया था। झारखंड पुलिस के अधिकारी और विभिन्न सुरक्षा एजेंसी उससे पूछताछ कर रही है। भूषण यादव लातेहार जिले के महुआडांड़ प्रखंड अंतर्गत गटगांव का रहने वाला है। पुलिस और सुरक्षाबल उसे वर्षों से तलाश रहे थे।

शहीद लांस नायक नजीर अहमद वानी के शौर्य की कहानी, उनकी पत्नी की जुबानी

बता दें कि काफ़ी समय से और काफ़ी मशक्कत के बाद खुफिया विभाग की देख-रेख में उसके सरेंडर की बात कही गयी थी जो सफल होती दिख रही है। भूषण यादव एक करोड़ के इनामी माओवादी अरविंद (मृत) और आत्मसमर्पण करने वाले सुधाकरण के दस्ते का सदस्य रह चुका है। भूषण यादव महुआडांड़ का रहने वाला है।

इन वारदातों को दिया अंजाम:
– भूषण यादव गढ़वा, लातेहार, गुमला, लोहरदगा और छत्तीसगढ़ के इलाकों में कई बड़े नक्सल हमलों का आरोपी है
– भूषण पर 2013 में कटिया हमले का आरोप है जिसमें सीआरपीएफ के 17 जवान शहीद हुए थे।
– 2011 में गारू में हमला जिसमें आठ जवान शहीद हुए थे।
-2012 में गढ़वा के भंडरिया में हमला जिसमें थाना प्रभारी समेत 13 जवान शहीद हुए थे।

खबर यह भी है कि चंद्रभूषण यादव के साथ दो और खूंखार नक्सली भी जल्दी ही पुलिस के सामने सरेंडर करेंगे। इन दोनों नक्सलियों के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक यह दोनों कुख्यात दक्षिणी छोटानागपुर एवं कोल्हान प्रमंडल से संबंध रखते हैं। इन दोनों नक्सलियों के सिर पर लाखों रूपए का इनाम है।

जम्मू-कश्मीर: किश्तवाड़ में सुरक्षा एजेंसियों ने डाला डेरा, आतंकी वारदातों से चढ़ा पारा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here