Chhattisgarh : 3 खूंखार नक्सलियों ने डाले हथियार, 6 लाख रुपए का था इनाम

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में 4 अप्रैल को तीन इनामी नक्सलियों ने सरेंडर किया है। सरेंडर करने वालों में एक महिला नक्सली भी शामिल है। तीनों ही अलग-अलग इलाकों में सालों से आतंक का खेल खेल रहे थे।

Chhattisgarh

दंतेवाड़ा में 3 खूंखार नक्सलियों ने किया सरेंडर।

Chhattisgarh: दंतेवाड़ा में 4 अप्रैल को तीन इनामी नक्सलियों ने सरेंडर किया है। सरेंडर करने वालों में एक महिला नक्सली भी शामिल है। तीनों ही अलग-अलग इलाकों में सालों से आतंक का खेल खेल रहे थे। गिरफ्तार नक्सलियों में प्लाटून कमांडर सहित डीएकेएमएस अध्यक्ष भी शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि ये सभी नक्सल संगठनों की खोखली विचारधारा से तंग आ चुके थे।

सरेंडर महिला नक्सली काले उर्फ पंडरी उर्फ सुशीला कारम नक्सलियों की प्लाटून 2 सी सेक्शन कमांडर है। साल 2003 से केएएमएस आरपीसी अध्यक्ष के रूप में भर्ती हुई थी। साल 2008 से प्लाटून 2 की सी सेक्शन कमांडर के रूप में काम कर रही थी। एरिया कमेटी सचिव कमलू ने साल 2011 में इसे तिमेनार केएएमएस का अध्यक्ष बनाया। साल 2007 में बेदरे, रानी बोदली, 2008 में कुपरेल, मोदोपल्ली, 2009 में ग्राम सालमेटा, 2010 में मारेमेड जैसी अन्य बड़ी घटनाओं में शामिल रही है। इन सभी घटनाओं में 70 जवानों की शहादत हुई थी, जबकि 6 जवान घायल हुए थे। इस पर 3 लाख रुपए का इनाम घोषित है।

यह भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ के कांकेर में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में BSF के 4 जवान शहीद, 2 जख्मी

नक्सलियों की इंद्रावती एरिया कमेटी के प्लाटून नम्बर 16 के सदस्य कमांडर पनसराम वट्टी ने भी सरेंडर किया है। यह साल 2007 से नक्सल संगठन से जुड़कर काम कर रहा था। इस पर 2 लाख रुपए का इनाम घोषित है। एक लाख रुपए के इनामी नक्सली डीएकेएमएस अध्यक्ष राजू कड़ती ने भी सरेंडर किया है। संगठन में रहते हुए साल 2010 में फरसपाल में नवल कर्मा के घर से 12 बोर हथियार लूटने, मारपीट करने, मासोडी में सलवा जुडूम नेता रघु मुड़ियाम की हत्या करने समेत कई घटनाओं में शामिल रहा है।

यह भी पढ़ेंः पुलवामा जैसी घटना रोकने के लिए हफ्ते में दो दिन बंद रहेगा बारामूला-उधमपुर हाइवे

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App