25 जवानों की मौत का है जिम्मेदार, पढ़ें इस खूंखार इनामी नक्सली ने पत्नी के साथ क्यों कर दिया सरेंडर?

आत्मसमर्पित नक्सली (Naxali) करटामी वागा उर्फ बादल कुकानार क्षेत्र का रहनेवाला है। वह नक्सलियों के प्लाटून नंबर 26 का डिप्टी कमांडर है।

Naxali

सुकमा जिले में नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत सरकार की पुनर्वास योजना से प्रभावित होकर एक महिला नक्सली (Woman Naxali) सहित प्रतिबंधित संगठन के तीन इनामी नक्सलियों (Naxalites) ने सुकमा पुलिस अधीक्षक और सीआरपीएफ (CRPF) के अधिकारियों के सामने सरेंडर कर दिया। आत्मसमर्पित नक्सलियों में करटामी वागा उर्फ बादल, मड़कम कमली और मड़कम बीजू शामिल हैं।

Naxali
एक नक्सली दंपत्ति सहित तीन इनामी नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया।

पत्नी है 5 लाख की इनामी: आत्मसमर्पित नक्सली (Naxali) करटामी वागा उर्फ बादल कुकानार क्षेत्र का रहनेवाला है। वह नक्सलियों के प्लाटून नंबर 26 का डिप्टी कमांडर है। इससे पहले वह कटेकल्याण एलजीएस कमांडर था। उसपर प्रशासन की ओर से 8 लाख रुपए का इनाम घोषित है। अत्मसमर्पण करने वाली महिला नक्सली मड़कम कमली अरनपुर क्षेत्र की रहने वाली है। वह करटामी वागा की पत्नी है। मड़कम कमली नक्सलियों के मिलिशिया की कमाण्डर इन चीफ (एसीएम) है। वह 5 लाख रुपये की इनामी है।

एसपी और CRPF अधिकारियों के सामने किया सरेंडर: वहीं, इन दोनों के साथ आत्मसमर्पण करनेवाला तीसरा नक्सली (Naxali) मड़कम बीजू तोंगपाल क्षेत्र का रहना वाला है। वह प्लाटून नंबर 24 सेक्सन बी का सदस्य है। प्रशासन ने उसके सिर पर 2 लाख रुपए का इनाम रखा है। इन तीनों नक्सलियों ने 13 मार्च को सुकमा नक्सल ऑपरेशन कार्यालय में एसपी शलभ सिन्हा, एएसपी सिद्धार्थ तिवारी और सीआरपीएफ (CRPF) के अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

अचानक पुलिस पर कर दी फायरिंग, मुठभेड़ के बाद PLFI के 4 नक्सली धराए

2012 में संगठन में हुआ था शामिल: आत्मसमर्पित नक्सली (Naxali) करटामी वागा को दरभा डिवीजन डीएकेएमएस अध्यक्ष सुखराम ने नक्सली संगठन में साल 2012 में शामिल किया था। संगठन में शामिल होने के बाद से वह दरभा डिवीजन में सक्रिय रूप से संगठन के लिए काम करता रहा। नक्सली संगठन में रहने के दौरान उसने कई नक्सली घटनाओं को अंजाम दिया था।

बुरकापाल में सुरक्षाबलों पर हमले में था शामिल: साल 2017 में नक्सलियों ने बुरकापाल में सुरक्षाबलों पर हमला किया था। इस हमले में 25 जवान शहीद हुए थे। इस हमले में करटामी भी शामिल था।

नक्सली संगठन में चल रही है खींचतान: नक्सली (Naxali) करटामी वागा ने बताया कि संगठन में आंध्र प्रदेश के नक्सली लीडर बस्तर के नक्सलियों के साथ भेदभाव करते हैं। जो भी लेवी वसूली किया जाता है, उसे भी पूरा दूसरे राज्यों के नक्सली लेकर जाते हैं। जिसके कारण नक्सली संगठन में खींचतान है। संगठन में खींचतान और अपने साथ हो रहे भेदभाव की वजह से उसने पत्नी के साथ सरेंडर करने का फैसला लिया।

यह भी पढ़ें