Chhattisgarh: सुकमा में 2 लाख के इनामी सहित 8 नक्सलियों ने किया सरेंडर

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सल विचारधारा को छोड़कर लगातार नक्सलियों का सरेंडर (Naxalites Surrender) हो रहा है। संगठन में हो रही ज्यादती से तंग आकर नक्सली नक्सलवाद (Naxalism) का रास्ता छोड़कर मुख्याधारा में शामिल हो रहे हैं।

Naxalites Surrender

File Photo

संगठन (Naxal Oganization) में हो रही ज्यादती से तंग आकर वे नक्सलवाद (Naxalism) का रास्ता छोड़कर मुख्याधारा में शामिल (Naxalites Surrender) हो रहे हैं।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सल विचारधारा को छोड़कर लगातार नक्सलियों का सरेंडर (Naxalites Surrender) हो रहा है। संगठन (Naxal Oganization) में हो रही ज्यादती से तंग आकर वे नक्सलवाद (Naxalism) का रास्ता छोड़कर मुख्याधारा में शामिल हो रहे हैं। साथ ही कोरोना (Coronavirus) काल में भी नक्सलियों (Naxalites) के लिए मुश्किल हो गई है।

Chhattisgarh: ITBP के जवानों ने फिटनेस ट्रेनिंग में हिस्सा लिया, सेंट्रल फ्रंटियर के IG भी रहे मौजूद; देखें PHOTOS

संगठन में रहकर उनके लिए इस महामारी से लड़ना संभव नहीं है। कोरोना काल में कई नक्सली इसकी चपेट में आ चुके हैं। साथ ही कई बड़े नक्सली नेताओं (Naxal Leaders) की कोरोना से मौत भी हो गई है। इसलिए नक्सली अब संगठन छोड़ने में ही अपनी भलाई समझ रहे हैं।

ये भी देखें-

इसी कड़ी में सुकमा में 11 जून को 2 लाख रुपए के इनामी नक्सली सहित 8 नक्सलियों ने सरेंडर (Naxalites Surrender) किया है। बता दें कि सरेंडर करने के बाद नक्सलियों को सरकार की आत्मसमर्पण नीति के तहत की लाभ दिए जाते हैं। नक्सलियों पर इन नीतियों की भी असर हो रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें