छत्तीसगढ़: कोरोना वायरस के बारे में झूठ फैला रहे नक्सली, खतरे में डाल रहे ग्रामीणों की जिंदगी

नक्सली कोरोना संक्रमण को लेकर झूठ बोल रहे हैं। इसका असर ये हुआ है कि नक्सल प्रभाव वाले अंदरूनी इलाकों में कोरोना तेजी से फैल रहा है।

Naxalites

फाइल फोटो

नक्सली (Naxalites) कोरोना संक्रमण को लेकर झूठ बोल रहे हैं। इसका असर ये हुआ है कि नक्सल प्रभाव वाले अंदरूनी इलाकों में कोरोना तेजी से फैल रहा है और हालात नियंत्रण से बाहर जा रहे हैं।

जगदलपुर: छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalites) की वजह से कोरोना काल में काफी मुश्किलें खड़ी हो रही है। खबर मिली है कि नक्सलियों की वजह से छत्तीसगढ़ के गांवों में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है।

दरअसल तेलंगाना में एक कोरोना संक्रमित नक्सली आयतु की मौत हुई थी और उसका शव छत्तीसगढ़ के सुकमा पहुंचा था। इसी दिन नक्सलियों के दक्षिण सब जोनल ब्यूरो ने प्रेस नोट जारी किया था और उसमें लिखा था कि हमारे किसी भी साथी की कोरोना से मौत नहीं हुई है। जिन 2 नक्सलियों की मौत हुई, वो मलेरिया और टाइडफाइड से हुई।

झारखंड: नक्सली नुनूचंद पर 3 थानों में दर्ज हैं 72 केस, प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोला- मुझसे भूल हो गई

जबकि ये बात साफ है कि नक्सली (Naxalites) कोरोना संक्रमण को लेकर झूठ बोल रहे हैं। इसका असर ये हुआ है कि नक्सल प्रभाव वाले अंदरूनी इलाकों में कोरोना तेजी से फैल रहा है और हालात नियंत्रण से बाहर जा रहे हैं। नक्सली, ग्रामीणों को कोरोना का टीका भी नहीं लगवाने दे रहे हैं।

कई नक्सली ऐसे हैं, जिन्होंने कोरोना संक्रमित होने के बाद सरेंडर किया है और पुलिस उनका इलाज करवा रही है।

बस्तर के आईजी सुंदरराज पी ने भी नक्सलियों से अपील की है कि वे अपना हथियार छोड़ें और सरेंडर करें, उसके बाद पुलिस उनका इलाज करवाएगी।

बस्तर के आईजी ने ये भी कहा है कि नक्सली, लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें